नीतीश के पटना रावण दहन कार्यक्रम से यूं खुली एनडीए की पोल

क्या वाकई बिहार एनडीए में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है। भाजपा-जदयू की परस्पर जुबानी तीर से सरकार क्षत्-विक्षत् हो चली है। दोनों पार्टी के बीच मानसिक दरार इतनी चौड़ी हो गई है कि अब उसे पाटना मुश्किल है? अगर हां तो फिर सीएम नीतीश कुमार का अपने शासन तंत्र पर कितना नियंत्रण होगा, इसे भलि-भांति समझा जा सकता है और भविष्यगत उभरने वाले एक नए राजनीतिक स्वरुप का सहज आंकलन समझ से परे नहीं है…………”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क। खबर है कि बिहार की राजधानी पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में मंगलवार को रावण दहन कार्यक्रम में राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, कांग्रेस नेता मदन मोहन झा और बिहार विधानसभा के स्पीकर विजय कुमार चौधरी शामिल हुए।

इस कार्यक्रम में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का कोई भी नेता शामिल नहीं हुए। पटना के गांधी मैदान में 63 वर्षों से रावण दहन होता आ रहा है, जिसे देखने के लिए हजारों की संख्या में लोग जुटते हैं।

गांधी मैदान में मंगलवार को रावण दहन के साथ साथ कुंभकर्ण और मेघनाद का भी दहन किया गया। इससे पहले गांधी मैदान में रामलीला की गई।

रावण वध से पहले मुख्यमंत्री ने श्रीराम और सीता का पूजन किया। प्रदेश के उप मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी को भी इस कार्यक्रम में शामिल होना था, लेकिन वे शामिल हुए। क्यों नहीं हुए, यह एक बड़ा सबाल है।

जबकि कांग्रेस के जिलाध्यक्ष मदन मोहन झा कार्यक्रम में सीएम नीतीश कुमार के साथ दिखे। इसको लेकर राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है।

पटना में भीषण बाढ़ को लेकर नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) और बीजेपी के बीच पिछले कुछ दिनों से मतभेद गहराया हुआ है। भाजपा इस पर आक्रमक है। जदयू की ओर से भी इसपर निरंतर पलटवार जारी है।

भारी बारिश के कारण पटना में हुए जलजमाव को लेकर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को जिम्मेदार ठहरा चुके हैं।

 भारी बारिश के बाद पटना में जो कुछ हुआ, उसके लिए नीतीश कुमार और सुशील मोदी जिम्मेदार हैं। इसके साथ ही उन्होंने राज्य सरकार के अधिकारियों पर हमला करते हुए सरकार से दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी किया था।

उनका कहना था कि अगर आईएमडी और मौसम विभाग कार्यालय की ओर से पहले ही भारी बारिश की चेतावनी दिया था तो अधिकारियों ने एहतिहात उपाय क्यों नहीं किए थे।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी कुछ दिन बीजेपी पर पलटवार करते हुए कहा था कि कुछ बड़बोले नेताओं को गठबंधन कमजोर नहीं करना चाहिए।

हालांकि, नीतीश कुमार ने कहा था कि एनडीए पूरी तरीके से एकजुट है और जो भी खटपट करेगा वह 2020 के विधानसभा चुनाव के बाद कहीं का नहीं रहेगा।

अपने संबोधन के दौरान नीतीश कुमार ने किसी भी बीजेपी नेता का नाम नहीं लिया था लेकिन, उनकी नाराजगी बीजेपी के फायर ब्रांड नेता व केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह और प्रदेश अध्यक्ष संजय पासवान के लिए साफ दिख रही थी।

Related News:

काश वुनियादी सुविधाओं से महरुम नालंदा के इस गांव में एक स्कूल होता !
नालंदा के खरुआरा पॉलटेक्निक की छात्रा ने फांसी लगा की आत्महत्या, जांच में जुटी पुलिस
सुशासन बाबू के हरनौत में 34 नामजद समेत 2 सौ अन्नदाताओं पर केस!
पिकअप वैन पलटी, 1 बच्चा समेत 3 की मौत, अनेक घायल, 3 की हालत नाजुक
11 मार्च को पूरी तरह टूट जायेगा भाजपाई रथ का पहिया: लालू
3 नवम्बर को धरना देगें देश के डाक कर्मी
उबले पुटपाथी दुकानदार, अफसरों की निकाली अर्थी जुलूस, दी गंभीर चेतावनी
लक्षमण गिलुआ की बेटी के शादी में पहुंचे 6 हजार लोग, बना 5-5 क्विंटल मटन-चिकन-मछली  
मनमानी और लूट का अड्डा बने प्रज्ञा केन्द्र और बरगलाते अफसर
देख लीजये अपने राजगीर कार्यालय की हालत अंचल बाबू
जमीनी हकीकत से इतर दिखती है हर तरफ ओडीएफ की तस्वीर
चौकीदार पुत्र की हत्या से भड़के ग्रामीणों ने थानेदार को गोली मारी
चर्चित 'छात्रा वीडियो वायरल' कांड को लेकर एक्सपर्ट मीडिया टीम पर यूं पड़ रहा दबाव
जनता दरबार में लोगों की समस्या से रुबरु हुए सरायकेला डीसी
पर्यावरण बचाव के लिए जरुरी है पेड़ पौधे का होनाः डॉ कल्याण कुमार
नाबालिग छात्रा का अश्लील वायरल वीडियो कांड का यह रहा मुख्य बदमाश राजा राम
जिप उपचुनावः प्रत्याशियों ने झोंकी ताकत, सास की किला बचाने में जुटी पिंकी
पीएम की जुबान से राष्ट्रीय फलक पर छाया ओरमांझी का आरा-केरम गांव
उत्कृष्ट योगदान के लिए डॉ. श्यामा राय को मिला फैमिली प्लानिंग अवार्ड
'स्वर्णकारों को अति पिछड़ा में शामिल करे राज्य सरकार'
जदयू विधायक की दादागिरी के खिलाफ बिहार शरीफ सदर अस्पताल तीसरे दिन भी ठप
दो युवकों ने चलती ट्रेन में यूं ली मौत की सेल्फी
योगीपुर पहुंचे सांसद पप्पू यादव, खिलाड़ियों को दिया सुरक्षा का भरोसा
रांची में जहरीली शराब पीने से 2 जैप जवान समेत अब तक 9 की मौत
 केन्द्र सरकार से अब तक नहीं मिली ‘महिला हेल्पलाईन’ योजना की राशि
रांची SSP के निर्देश पर 2 कबाड़ीखानों पर छापा, सरिया लदे 5 ट्रेलर जब्त, 3 धराये
जल्लाद राजः शराब कारोबारियों ने अखबार एजेंट को चाकू गोद-गोद कर मार डाला
बिहार राज्य उतराधिकारी संगठन ? 30 साल पहले सीएम ने सैरात भूमि पर रख दी आधारशिला !
बिहार का एक ऐसा गांव, जहां समृद्ध घरों में भी इस कारण नहीं है शौचालय
🙏सरकार आए, फिर बहार आई......💐💐💐
बापू हाई स्कूल चंडी का कारनामाः एक ही फोटो पर दो छात्रों को यूं करा दिया मैट्रिक पास
पर्यटन नगरी राजगीर में पॉलिथीन प्रतिबंध को लेकर लापरवाह है प्रशासन
शर्मनाकः कस्तूरबा विद्यालय की एक और नाबालिग छात्रा हुई गर्ववती
सिर्फ भुजाली लिए थे नक्सली, 5 पुलिस जवानों को उनकी ही बंदूकें छीनकर मारी गोली
जलोपा राष्ट्रीय अध्यक्ष की चुनावी हुंकार- ‘बिहार में जंगलराज से भी बदतर हालात’
सकारात्मक रही शीर्ष जिला प्रशासन और अधिवक्ता संघ की बैठक, लेकिन.....
अब ट्रेजरी महाघोटालाः बोले तेजस्वी और मांझी- इसमें शामिल हैं सीएम नीतीश
रघुबर जी, इस बार आपको जबाव देना ही होगा....
ओडीएफ के नाम पर लूट और जालजासी, कहीं अधूरे तो कहीं ध्वस्त हो रहे शौचालय
एक जदयू विधायक की अराजक जिद वनाम ठप बिहार शरीफ सदर अस्पताल!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...