नहीं रहे डॉ. जगन्नाथ मिश्रा😓💐💐💐

Share Button

अपनी राजनीतिक पकड़ की वजह से वो तीन बार बिहार के मुख्यमंत्री बने। उन्होंने पहली बार यह जिम्मेदारी वर्ष 1975 में संभाली, दूसरी बार वो 1980 में राज्य के मुख्यमंत्री बने। आखिरी बार वह 1989 से 1990 तक बिहार के मुख्यमंत्री रहे…………”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा का दिल्ली में निधन हो गया है। वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे। उनका दिल्ली में ही इलाज चल रहा था। वे तीन बार बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके थे। उनके निधन की खबर से पूरे बिहार में शोक की लहर व्याप्त है।

वह 90 के दशक के मध्य में केंद्रीय कैबिनेट मंत्री भी रहे। बिहार के पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा ने राजनीति से पहले अपने करियर की शुरुआत लेक्चरर के तौर पर की थी। बाद में उन्होंने बिहार यूनिवर्सिटी में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर के तौर पर अपनी सेवाएं दी।

इस दौरान उन्होंने 40 के करीब रिसर्च पेपर लिखे। जगन्नाथ मिश्रा का शुरू से ही राजनीति से लगाव रहा था। वो 90 के दशक के बीच केंद्रीय कैबिनेट मंत्री भी रहे। डॉ. मिश्र का नाम कांग्रेस के बड़े नेताओं के तौर पर जाना जाता था। उन्हें मिथिलांचल के सबसे कद्दावार नेता माना जाता था।

डॉ जगन्नाथ मिश्र भारतीय राजनेता और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री थे। श्री मिश्रा ने प्रोफेसर के रूप में अपना करियर शुरू किया था और बाद में बिहार विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर बने। डॉ० मिश्र तीन बार बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके थे। उनकी रुचि राजनीति में बचपन से ही थी, क्योंकि उनके बड़े भाई, ललित नारायण मिश्र राजनीति में थे और रेल मंत्री थे। डॉ जगन्नाथ मिश्रा विश्वविद्याल में पढ़ाने के दौरान ही भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में शामिल हुए। डॉ मिश्र 1975 में पहली बार मुख्यमंत्री बने। दूसरी बार उन्हें 1980 में कमान सौंपी गई और आखिरी बार 1989 से 1990 तक बिहार के मुख्यमंत्री रहे। वह 90 के दशक के बीच केंद्रीय कैबिनेट मंत्री भी रहे। बिहार में डॉ मिश्र का नाम बड़े नेताओं के तौर पर जाना जाता था । कांग्रेस छोड़ने के बाद, वह राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए और अब जनता दल (यूनाइटेड) के सदस्य हैं। 30 सितंबर 2013 को रांची में एक विशेष केंद्रीय जांच ब्यूरो ने चारा घोटाले में 44 अन्य लोगों के साथ उन्हें दोषी ठहराया। उन्हें चार साल की कारावास और 200,000 रुपये का जुर्माना लगाया गया था।

Share Button

Related News:

'भ्रष्टाचारियों, माफियाओं व दलालों का अड्डा बन गया है नालंदा डीईओ कार्यालय'
थाना प्रभारी बोल लूटेरों ने मचाया तांडव, दंपति को घायल कर लूटी संपति
क्राइम, करप्शन और कम्युनलिज्म से नहीं करेंगे कभी समझौता :सीएम नीतीश
पत्रकार पुत्र हत्या कांड की गुत्थी में उलझी पुलिस
इस किसान की सुसाइड पर सफेद झूठ बोल रहे हैं ये अफसर और BJP नेता
थानेदार की शह पर एक बदमिजाज शराबी ड्राईवर यूं चलाते दिखा थाना, संपादक को दी भद्दी गालियां
पुलिस के संगीन साए में इस तरह हो रहा था विदेशी पर्यटकों का भयादोहन
प्रेमी संग फरार हुई मुखिया, पति ने थाने में दर्ज कराई एफआईआऱ
राजगीर जू सफारी क्षेत्र में लगी आग, यूं धू-धू कर जल रहा
डायन-बिसाही के नाम पर दो महिला समेत 4 लोगों को भीड़ ने मार डाला
राज्य के सुदूर गांव के अंतिम व्यक्ति तक स्वास्थ्य सुविधा देना लक्ष्यः  स्वास्थ्य मंत्री
रिहाई के बाद पुलिस महकमा को पता चला कि खूंटी में 3 नहीं, 4 जवान हुए थे अगवा
नालंदा वन विभागः 2 भूमिहीन डोम के घरौंदे को रौंदा और बड़े भू-माफियाओं को छोड़ा
नालंदा के सिलाव में प्रियंका बनी अध्यक्ष और शाइस्ता उपाध्यक्ष
कोडरमा घाटी लूट कांड का खुलासाः कारोबारी का ड्राईवर ही निकला मास्टर माइंड
नालंदा के गिरियक में नियोजित शिक्षकों की तालाबंदी जारी, प्रायः स्कूल बंद
स्वर्ण व्यवसायी के घर डकैतों का घंटो तांडव, सपरिवार बंधक बना लूट ली 5 लाख की संपति
खुद फर्जीवाड़ा में फंस गए मीडिया पर आरोप लगाने वाले कोडरमा चाइल्ड लाइन का निदेशक
सेना की मनमानी से त्रस्त ग्रामीणों की सीएम से गुहार
शव लेकर पहुंचे बोलेरो चालक की बिहारशरीफ सदर अस्पताल में धुनाई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...