थाना में बर्बर पिटाई मामले में राष्ट्रीय मानवाधिकार ने मुख्य सचिव को किया सशरीर तलब

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने झारखंड के मुख्य सचिव को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए पीड़ित को एक लाख रूपये भुगतान करने का आदेश दिया था, परन्तु ऐसा नहीं किया किया। अब आयोग ने मामले को गंभीरता से लेते हुए चार सप्ताह के अन्दर राशि भुगतान कर सप्रमाण-सशरीर उपस्थित होने के आदेश दिया है…….”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज। कोडरमा जिले के लोकाई पंचायत के तीनतारा गाँव निवासी शंकर साव पिता लक्ष्मण साव को पुलिस द्वारा सर्वोच्च न्यायलय के गिरफ़्तारी सम्बन्धी आदेश का उलन्घन करते हुए उसे उसके घर से गिरफ्तार 28 जनवरी 2018 को कोडरमा थाना लाकर अमानवीय पिटाई की गई थी। जिससे शंकर साव का पैर टूट गया था और  वह चलने फिरने में लाचार हो गया था।

पीड़ित लक्ष्मण साव….

घटना के सम्बन्ध में शंकर साव ने मानवाधिकार कार्यकर्त्ता ओंकार विश्वकर्मा से संपर्क कर घटना की जानकारी दी थी।

शंकर साव के अनुसार उसे 28 जनवरी 2018 दिन रविवार के रात 8 बजे के करीब पुलिस उसके घर से बुला कर थाना लाया गया। जहां उसकी बुरी तरह पिटाई की गई। जिससे उसका पैर टूट गया।

उसे सदर अस्पताल कोडरमा में होश आया तो देखा कि वह चलने- फिरने में भी असमर्थ है। वहां इलाज होने के बाद वह अपना इलाज धनबाद के एक निजी क्लिनिक में करवाया था, जिसके लिए मानवाधिकार जन निगरानी समिति ने उसे आर्थिक मदद की थी।

इसके बाद मामले को लेकर ओंकार विश्वकर्मा द्वारा राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग में दिनांक 30 जनवरी 2018 को अपील की गई। जिस पर संज्ञान लेते हुए मानवाधिकार आयोग ने कोडरमा पुलिस अधिक्षक से रिपोर्ट तलब किया था।

इस पर कोडरमा पुलिस द्वारा 29 जून 2019 को मानवाधिकार को आयोग को रिपोर्ट भेजा गया था। जिसमे पुलिस ने अपना पक्ष रखते हुए कहा था कि कोडरमा थाना अपराध संख्या 17/18 दिनांक 24.1.2018 यू / एस 302/34 आईपीसी के संबंध में 28.1.2018 को पूछताछ के लिए पीएस लाया गया।

प्रासंगिक समय में शंकर एक गंभीर स्थिति में थे और उन्हें पूछताछ के लिए पीएस में बैठने के लिए बनाया गया था, क्योंकि पीएसपी के कुछ निरीक्षण कार्य एसडीपीओ, कोडरमा द्वारा किए जा रहे थे।

जब पीएस के पुलिस अधिकारी निरीक्षण कार्य में व्यस्त थे, तब पीड़ित शंकर ने कथित तौर पर पीएस के पिछले गेट से अंधेरे में पीएस से दूर भागने का प्रयास किया और वह एक नाले में गिर गया और उसके पैर में चोट लग गई। उसे इलाज के लिए पुलिस ने सदर अस्पताल में भर्ती कराया।

इस प्रकार, रिपोर्ट ने शिकायतकर्ता द्वारा लगाए गए आरोपों को पूरी तरह से नकार दिया।

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने सामग्री को रिकॉर्ड पर विचार किया और मामले के तथ्यों और परिस्थितियों पर ध्यान दिया। शिकायतकर्ता द्वारा लगाए गए आरोपों की एसडीओपी, कोडारमा द्वारा विधिवत पूछताछ की गई और शिकायत में लगाए गए आरोपों का खंडन किया गया।

लेकिन यह देखा गया कि 28.1.2018 को डीडी में एक भी प्रविष्टि नहीं की गई है, जब पुलिस ने पूछताछ के उद्देश्य से शंकर को पीएस में लाने के लिए शिकायतकर्ता के घर का दौरा किया। इसलिए, पुलिस का संस्करण को आयोग ने अस्थिर पाया।

घटना की जुबानी-पीड़ित शंकर साव की जुबानी……… 

Related News:

ललन सिंह जैसे मंत्री के जूते छूने वाले ऐसे खाकी धारी को बर्खास्त करे चुनाव आयोग
बाहुबलियों की जंग में कौन होगा मुंगेर का 'सरकार '
अदद पोस्टर फाड़ने को लेकर एनएच-33 को किया घंटा भर जाम
देखिए वीडियोः फेसबुक पर एक पारा शिक्षिका का अमर्यादित धमाल
बिहारशरीफ कोर्ट पहुंचे शरद यादव, बोले- बकबास है एग्जिट पोल
पेंशन दो या फांसी दो के नारे के साथ राजगीर के पेंशनरों का रोषपूर्ण प्रदर्शन
यहां पानी को लेकर फसाद, सड़क पर उतरी महिलाएं, लोगों को यूं पीटा
10 हजार की रिश्वत लेते ACB के हत्थे चढ़ा भ्रष्ट पुलिस ASI योगेंद्र राय
18.23 लाख नगद,6 एटीएम, 3 मोबाईल समेत 2 साइबर ठग धराए
अब नो टेंशन, राजगीर मलमास मेला मोबाईल एप्प है न
ADG तदाशा मिश्रा के बेटे ने की आत्महत्या, खुद को मारी गोली
सीएम नीतीश के राजगीर में बड़ा घोटाला, पार्षद ने खोली कच्चा चिठ्ठा, निगरानी जांच की मांग
विश्व योग दिवस की तैयारी को लेकर निलगिरी गढ़ पर बैठक
सरकारी स्कूल परिसर में यूं गिरा बूढ़ा पेड़, अनहोनी टली
जागरुकता से संभव है एसिड एटैक जैसे अपराध पर लगाम
सारे पत्थलगड़ी केस होंगे वापस
दिल्ली भूख हड़ताल में होंगी बिहारी कमर्चारियों की आवाज़ बुलंद
कार्बाइन, लेवी के पैसा समेत पुलिस के हत्थे चढ़े 3 नक्सली
कंस मामा ने 3 वर्षीय भांजे को यूं पीटकर मार डाला
कभी इस कारण छोटी अयोध्या के नाम से शुमार था इस्लामपुर
हिलसा एसडीओ के कड़े निर्देशः शराब मिली तो नपेगें चौकीदार-दफादार
छात्र जदयू ने वीसी और प्रिंसिपल का पुतला फूंका
मनमानी कर रहा  है हजारीबाग का होलीक्रॉस स्कूल, कार्रवाई की मांग
अपराध है राजगीर मेला सैरात भूमि की खरीद-बिक्री, बंदोबस्ती, दान या लीज
फर्जी मुकदमेबाजों का अड्डा बना राजगीर थाना, अब SDO ने अपनी नाकामी छुपाने के लिए कराई यूं फर्जी FIR
नालंदा के नगरनौसा थाना क्षेत्र में बगीचा अगोर रहे महादलित को गोलियों से भूना
यूं तैयार है राजगीर की वैतरणी, दुःखहरणी और शालिग्राम कुंड ?
सुनिये ऑडियो, संवेदक को चीख-चीख कर कैसे मां-बहन की गालियां देता है हिलसा का यह अफसर
पंचायतों को खुले में शौच मुक्त करवाएंगे स्वच्छताग्रही
एसीबी ने 1.16 लाख की रिश्वत के साथ 5 लोगों को दबोचा
पुलिस सब इंसपेक्टर पिंकी प्रसाद बनी यूं ‘एक्सपर्ट एक्सलेंट’
बोले सीएम- जानमाल से कोई समझौता नहीं, बुरुगुलीकेला कांड का करें SIT जांच
सीएम के नालंदा में जहरीली शराब पीने से एक की मौत, एक गंभीर
वर्षोत्सव के पहले गमगीन कोल्हान, शहीदों को दी भावभीनी श्रद्धांजलि
6 महिला कॉलेज में लगी डीजीपी शिकायत पेटी, छात्राओं ने कहा- थैंक्यू
बांका के रेहान और नौशाद का नहीं मिला कोई आतंकी कनेक्शन
इस कर्मचार को अगले भ्रष्टाचार का इंतजार !
झारखंड, मलेरिया, सदर अस्पताल, दवा नहीं, मौत, अमानवीयता की हद
बस, एक सुखद अनुभूति का एहसास !
बीच सड़क घायलों को तड़पता देख भी नही रुका केन्द्रीय मंत्री सुदर्शन भगत का काफिला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...