थाना प्रभारी बोल लूटेरों ने मचाया तांडव, दंपति को घायल कर लूटी संपति

Share Button

पुलिस बनकर आए अपराधियों ने दो घरों में जमकर तांडव मचाया। इस दौरान दम्पत्ति को बंधक बनाकर न केवल करीब दो लाख रुपये मूल्य की सम्पत्ति लूटा बल्कि विरोध किए जाने पर लहुलूहान भी कर दिया।”

हिलसा (चन्द्रकांत)। यह घटना शुक्रवार की देर रात नालंदा जिले के हिलसा अनुमंडल नगर के बिहारीरोड में देवीस्थान के निकट बसे दक्षिण मोहल्ले में हुई।

घायल कारु प्रसाद…..

पीड़ित निवासी कारु प्रसाद ने बताया कि अपनी पत्नी संजू देवी के साथ नवनिर्मित मकान में सोए हुथे। तभी रात के करीब एक बजे के लगभग कुछ लोग आए और भद्दी-भद्दी गालियां देते हुए दरवाजा खोलने को कहा।

दरवाजा खुलवाने का कारण पूछे जाने पर खुद को थाना प्रभारी बताते हुए शराब पीने तथा घर में शराब छुपाकर रखे जाने की बात कही। थाना प्रभारी की बात सुन दरवाजा खोल दिया गया।

इलाज करवातीं घायल संजू देवी….

तब दरवाजा खोलते ही घर में चार सिविल में चार आदमी घुसा और कुछ लोग बाहर रह गया। घर में घुसते ही पत्नी संजू देवी के कान से सोने का कानवाली, गले से मंगलसूत्र खींच लिया और पहने हुए चांदी के गहने ले लिया।

विरोध करने पर हाथ में लिए लकड़ी के फट्टा से माथा पर मारकर बुरी तरह से घायल करने के बाद बंधक दिया।

इसके बाद एक थैला में छुपाकर रखे चालीस हजार रुपये और कीमती कपड़ा लेने के बाद पुलिस की वेश में आए अपराधी घर से बाहर निकल गया।

घर से निकलने के वक्त अपराधी लोग हल्ला करने पर जान मारने की धमकी देते हुए बाहर से घर का दरवाजा बंद कर चला गया।

थोड़ी देर बाद घर की दीवाल में रहे छेद से हल्ला किए तो आसपास के लोग आए और पुलिस को खबर किए। उसी इलाके में अपराधियों ने सुनील पंडित के घर से भी करीब एक लाख रुपये मूल्य की सम्पत्ति ले भागा।

गोदरेज जिसे तोड़कर अपराधियों ने ले भागे सामान….

गृहस्वामी की मानें तो वह अपने पुत्र का इलाज करवाने पटना गए हुए थे। घर में कोई नहीं था। तभी अपराधी ताला तोड़कर घर के अंदर घुसा।

घर में रखे गोदरेज को तोड़कर उसमे रखे नगद रुपये, सोने के जेवरात एवं कीमती कपड़ा ले भागा। इसकी जानकारी शनिवार की दोपहर तब हुई जब वे पटना से घर पहुंचे।

थानाध्यक्ष रत्न किशोर झा ने बताया कि घटना के संबंध में एफआईआर दर्ज कर गहराई से छानबीन शुरु कर दी गई। घटना में शामिल अपराधियों की पहचान कर गिरफ्तारी तथा लूटे गए सामानों की बरामदगी का प्रयास किया जा रहा है।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.