डॉक्‍टर ने पेट दर्द की शिकायत पर दो युवक को लिखा प्रेगनेंसी टेस्ट की पर्ची😳

डॉक्‍टरों को ऑपरेशन के दौरान शरीर में कैंची या अन्‍य टूल्‍स छोड़े जाने की घटनाएं तो आपने पढ़ी होंगी लेकिन झारखंड में एक अजीब मामला सामने आया है…………”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज डेस्क।  झारखंड के चतरा जिले में एक डॉक्‍टर ने दो पुरुषों को पेट दर्द की शिकायत पर प्रेगनेंसी टेस्ट कराने की प्रिस्क्रिप्‍शन लिख दी है। इसकी शिकायत जब की गई तो महकमे में हड़कंप मच गया। अब मामले की जांच के निर्देश दिए गए हैं। यह दिलचस्प मामला विगत एक अक्टूबर की है।

कहते हैं कि सिमरिया प्रखंड के चोरबोरा गांव निवासी महावीर गंझू का 22 वर्षीय पुत्र गोपाल गंझू और सुधु गंझू का 26 वर्षीय पुत्र कामेश्वर गंझू को अचानक पेट में दर्द उठा। परिजन उपचार के लिए रेफरल अस्पताल लेकर पहुंचे।

परिजनों के मुताबिक, उस वक्‍त ड्यूटी पर डॉक्टर मुकेश मौजूद थे। उन्होंने दोनों मरीजों को देखा अस्पताल की पर्ची संख्या 17028 एवं 17032 पर कथित तौर पर प्रेगनेंसी टेस्‍ट की सलाह दी।

यही नहीं डॉक्‍टर ने युवकों को एचआईवी, एचबीए, एचसीवी, सीबीसी, एचएच-2 और एएनसी चेकअप की सलाह दिया। साथ ही दोनों को करीब-करीब एक ही तरह की दवाएं लिख दी। दोनों युवक जांच के लिए एक निजी पैथोलॉजी लैब गए।

जांच करने वाला डॉक्टर अस्पताल की पर्ची देखकर दंग रहा गया। कुछ जांचें तो उसने की लेकिन प्रेगनेंसी आदि की जांच से इंकार कर दिया। इसके बाद दोनों युवकों ने वरिष्‍ठ डॉक्‍टर अरुण कुमार पासवान से उक्‍त वाकए की शिकायत की। 

चतरा जिले के सिविल सर्जन डॉक्‍टर पासवान ने बताया कि इस शिकायत के आधार पर जांच बैठा दी गई है। वहीं आरोपी डॉक्‍टर मुकेश कुमार ने सभी आरोपों को खारिज कर दिया है।

उन्‍होंने कहा कि कतई ऐसा नहीं हो सकता है। मुझे बदनाम करने की साजिश है। ओवर राइटिंग से ऐसा किया गया है। रजिस्टर पंजी में एएनसी जांच नहीं लिखी हुई है। हालांकि पर्ची देखने से नहीं लगता है कि ओवर राइटिंग की गई है।

वैसे अब तो जांच के बाद ही पता चलेगा कि क्‍या वाकई मरीजों को पेट दर्द की शिकायत पर ऐसा प्रिस्क्रिप्‍शन दिया गया था या नहीं।

बहरहाल, डॉक्‍टर द्वारा ऐसा अजीब प्रिस्‍क्रि‍प्‍शन देने का यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले जुलाई में सिंघभूम जिले में ऐसा ही मामला सामने आया था। उस वक्‍त पेट दर्द की शिकायत पर डॉक्‍टर ने एक महिला को कंडोम का प्रिस्‍क्रिप्‍शन लिखा था।

इसका पता उस महिला को तब चला था, जब वह दवा की दुकान पर पर्ची लेकर गई। मेडिकल स्‍टोर पर बैठे शख्‍स ने ही उसे बताया कि डॉक्‍टर ने पर्ची में दवा के बजाए कंडोम प्रेस्‍क्राइब किया है।

जानकार बताते हैं कि निरपेक्ष न्यूट्रोफिल काउंट (एएनसी) रक्त में मौजूद न्यूट्रोफिल ग्रैन्यूलोसाइट्स-1 के रूप में भी जाना जाता है। न्यूट्रोफिल एक प्रकार का सफेद रक्त कोशिका है, जो संक्रमण से लड़ता है।

गर्भवती की संपुष्टी के बाद एएनसी टेस्ट कराया जाता है। गर्भवती होने के बाद हर तीन महीने पर इसकी जांच कराई जाती है।

Related News:

दिल्ली के जंतर-मंतर पर तमिलनाडु के किसानों ने पीये मूत्र
स्कूल नहीं लौटे 64 हजार पारा शिक्षकों की जगह 50 हजार की नियुक्ति प्रक्रिया शुरु
इधर पिता प्रखंड जदयू का निर्विरोध अध्यक्ष बना, उधर पुत्र की पटना में गोली मारकर हत्या
बिहार पुलिस पारितोषिक समारोह-2019 में ये हुए सम्मानित, सुनिए क्या बोले डीजीपी
नालंदा के थरथरी में निजी बीएड कॉलेज निर्माण के ठेकेदार से मांगी रंगदारी
राजद विधानसभा में उठाएगा राजगीर ‘पुलिस उत्पीड़न’ कांड का मुद्दा
आपराधिक छवि के वार्ड पार्षदों का केस नही लड़ेंगेः अधिवक्ता संघ
नालंदा डीएम ने नगरनौसा प्रखंड मुख्यालय में की समीक्षा बैठक, दिये कई निर्देश-चेतावनी
झारखंड गवर्नर ने 24 मई को ही लौटाया था सीएनटी-एसपीटी एक्ट संशोधन बिल
..........और अफसरों की उदासीनता से नगर पर्षद बनते-बनते यूं चूक गया राजगीर
गांवों में छठ पर्व घाटों व रास्तों की सफाई में जुटे युवा
दर्दनाक हादसाः दो बाईक की भिड़त में 1 बच्चा समेत 3 की मौत, 4 घायल
‘दरिंदा बलात्कारी आपकी आंख का तारा, आखिर चाचा क्या है माजरा’?
युवती भगाने के आरोपी की भाभी संग शादी की कहानी से चकराई हिलसा पुलिस
खतरे में राजगीर का 5 हज़ार वर्ष पुराना ऐतिहासिक धरोहर
वायरल VIDEO का सच आया सामने, GRP कांस्टेबल हुआ सस्पेंड
पुलिस गश्ती दल को ट्रक ने रौंदा, एएसआई कार्तिक कुमार की मौत, 3 जवान घायल
युवती संग छेड़खानी वीडियो वायरल केस में ये 5 धराए, मुख्य आरोपी फरार
सीतामढ़ी जिला कल्याण पदाधिकारी को गोलियों से भूना, मौके पर मौत
कामगारों की कमी सिकिदीरी परियोजना की सबसे बड़ी समस्याः प्रबंधक अमर नायक
10 पैसे और 10 रुपये का अंतर कौन डकार रहा है ?
सावधान! 2000 के जेरोक्स नोट चलाने का शुरु है धंधा
 डायन की शक में वार्ड सदस्य और उसके भाई की गला रेतकर हत्या
लॉ एंड ऑर्डर आउट ऑफ कंट्रोल इन बिहार
बालू माफियाओं ने रैयती खेत को बनाया यूं तालाब, पुलिस नहीं कर रही कार्रवाई
कोई बड़ा घटना को अंजाम दे सकता है PMCH से हथकड़ीबंद फरार बबलू सिंह
मधु कोड़ा के 3 साल तक चुनावी रोक से बदला चाईबासा का राजनीतिक समीकरण
भ्रष्टाचारः यूं उड़ रही है मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना की धज्जियां !
मगध सम्राट बिंबिसार के जमीनदोंज किले पर वन्यप्राणी सफारी का निर्माण शुरू
बिहार के 40 सीटों पर सभी 7 चरणों में यूं होंगे चुनाव
सृजन महाघोटाले की CBI जांच लगभग पूरी, कई नेताओं-अफसरों के होश उड़े
अब ग्राम प्रधानों को मिलेगा प्रतिमाह एक हजार रुपए का मानदेय
अनियंत्रित स्कार्पियो ने बच्चे को रौंदा, गंभीर हालत में पटना रेफर
शातिर चोर चढ़ा हिलसा पुलिस के हत्थे
चिकित्सा क्षेत्र के रीढ़ होते हैं ग्रामीण मेडिकल प्रैक्टिशनर
परीक्षा केंद्रों पर 2 घंटा पहले पहुंचें मजिस्ट्रेट और पुलिस अफसर :डीएम
अनंत सिंह को लेकर सियासतदारों के जाल में यूं फंस गई बाढ़ ASP लिपि सिंह
राजगीर में अपराधियों का बोलबाला, लूट की शिकार पीड़ित दंपति को पुलिस ने डांट भगाया
गृद्धकूट पर्वत पर रोज भगवान बुद्ध को प्रकट कर ठगी करने वाले तीन धराये
बाल सरंक्षण आयोग अध्यक्ष आरती कुजूर की इस जांच से सब कुछ साफ हो गया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...