डीएम की छापेमारी के 10 वें दिन बिहारशरीफ पर्यवेक्षण गृह से भागे 4 किशोर

0
18

“फरार एक बाल कैदी एकंगरसराय में हुए ऋतिक हत्याकांड का आरोपी रहा है। पुलिस इस आरोपी को पकड़ने के लिए तेलांगना गयी थी और वहां से काफी मशक्कत के बाद इस बाल कैदी को पकड़ा गया था..”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज। नालंदा जिले के दीपनगर थाना क्षेत्र के डीटीओ ऑफिस से सटे बिहारशरीफ पर्यवेक्षण गृह से चार किशोरों के फरार होने की सूचना मिली है। यह घटना रविवार की देर रात की है।

पर्यवेक्षण गृह के सूत्रों के अनुसार सभी बाल कैदी बीती रात बाथ रूम के भेंडीलेटर का छड़ तोड़कर फरार हो गये।

विश्वस्त सूत्रों की मानें तो इसमें से फरार एक बाल कैदी एकंगरसराय में हुए ऋतिक हत्याकांड का आरोपी रहा है। पुलिस इस आरोपी को पकड़ने के लिए तेलांगना गयी थी और वहां से काफी मशक्कत के बाद इस बाल कैदी को पकड़ा गया था।

इसी प्रकार फरार एक बाल कैदी लड़की से छेड़खानी, दूसरा अपहरण एवं तीसरा लड़की भगाने का आरोपी बताया जा रहा है।

इधर, जिला बाल संरक्षण इकाई के प्रभारी सहायक निदेशक ब्रजेश मिश्रा के अनुसार फरार बाल कैदियों में नवादा, शेखपुरा, एकंगरसराय व हिलसा का निवासी है।

पर्यवेक्षण गृह से एक साथ चार बाल कैदियों के फरार हो जाने के बाद अब इस गृह की सुरक्षा पर बड़ा प्रश्न चिन्ह लग गया है।

सूत्रों के अनुसार इस संबंध में पर्यवेक्षण गृह के इंचार्ज एवं यहां तैनात सुरक्षा कर्मियों से पूछताछ की जा रही है। पुलिस फरार बाल कैदियों की तलाश में जुटी है। इसके लिए संभावित ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है।

बता दें कि बीते 3 मई की रात्रि में इस पर्यवेक्षण गृह में डीएम योगेंद्र सिंह व एसपी नीलेश कुमार ने रात्रि में छापा मारा था। इस दौरान खैनी, चिलम, कई मोबाइल व मोबाइल चार्जर जैसे आपत्तिजनक समान बरामद किये गये थे। इस दौरान रसोईया समेत सुरक्षा गार्डों को हटाने के भी निर्देश दिए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.