झोला छाप डॉक्टर ने ली युवक का जान, क्लिनिक सील

Share Button

 “झोला छाप चिकित्सक के द्वारा गलत सुई देने से सत्यार्थी चाइल्ड वेलफेयर फाउंडेशन के लिए काम कर रहे युवक का मौत, क्लिनिक सील, मौके से झोलाछाप चिकित्सक फरार, पौथोलॉजी सेंटरों में नियमित पैथोलॉजिस्ट डॉक्टर नहीं फिर भी चल रहे है धड़ल्ले से।”

कोडरमा (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। मामला डोमचांच थाना क्षेत्र गेंदवाडीह निवासी उमेश राणा 30 वर्ष पिता स्वर्गीय बंधन राणा को मंगलवार रात्रि 3:00 बजे अचानक पूरे शरीर में दर्द होने पर अपने घरवालों को उठाया और तबियत बिगड़ने की जानकारी दी। उसके बाद उसके भाई दिनेश राणा के द्वारा सत्यार्थी चाइल्ड वेलफेयर फाउंडेशन के महेश सिंह को बुलाया गया और दोनों अपनी मोटरसाइकिल से डोमचांच बाजार स्थित अपोलो हेल्थ केयर ले जाया गया।

जहां पर झोलाछाप चिकित्सक संजय कुमार के द्वारा इलाज किया गया। मृतक उमेश राणा को 2 इंजेक्शन लगाया गया। इंजेक्शन लगाते ही मृतक को और बेचैनी होने लगी एवं मुंह से झाग आने लगा।

लेकिन वह हर बार ठीक होने की बात कहकर बात को टालते रहे, जब मृतक उमेश राणा की स्थिति ज्यादा गंभीर हुई तो लगभग 9:30 बजे झोलाछाप चिकित्सक के पिता भगवानी प्रसाद के द्वारा सादे कागज पर कुछ दवाओं के नाम लिखकर झुमरीतिलैया स्थित कोडरमा नर्सिंग होम रेफर कर दिया गया।

 

मृतक के भाई दिनेश राणा ने बताया कि लगभग 10 बजे झुमरी तलैया स्थिति कोडरमा नर्सिंग होम पहुंचे जहां पर चिकित्सक डॉक्टर संदेश कुमार गुप्ता के द्वारा बताया गया स्थिति काफी नाजुक है। कुछ भी कहा नहीं जा सकता। इसके बाद चिकित्सक के द्वारा इलाज प्रारंभ किया गया। इलाज करने के दौरान ही 20 मिनट के अंदर ही दिनेश राणा की मृत्यु हो गई।

जब इसकी सूचना सत्यार्थी चाइल्ड वेलफेयर फाउंडेशन के कर्मियों को लगी तो लोग कोडरमा नर्सिंग होम में जमा होने लगे। इसी बीच जिला प्रशासन को भी इसकी खबर मिल चुकी थी।

मौके पर कार्यपालक दंडाधिकारी संतोष कुमार तिलैया थाना प्रभारी राजबल्लभ पासवान एवं पुलिस बल के जवान मौके पहुंचकर उमेश राणा का शव अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल कोडरमा पहुंचे, जहां पर कैमरे की निगरानी में पोस्टमार्टम किया गया।

इसी बीच कोडरमा उपायुक्त के आदेश पर डोमचाच बाज़ार स्थित अपोलो हेल्थ केयर को सील करने कार्यपालक दंडाधिकारी संतोष कुमार डॉ रंजीत कुमार डोमचांच पहुंचे। जहां से झोलाछाप चिकित्सक संजय कुमार एवं पिता भगवानी प्रसाद मौके से फरार हो चुके थे। क्लीनिक सील करने पहुंचे पदाधिकारियों ने क्लीनिक को चालू हालत में पाया एवं सील किया गया

 बड़े आराम से फल-फूल रहा झोलाछाप पैथोलॉजी सेंटर धंधा

मोटी कमाई के चक्कर में मरीजों की जिंदगी से खिलवाड़ करने वाले पौथोलॉजी सेंटरों पर कार्रवाई क्यों नहीं होती आंकड़ों के मुताबिक मौजूदा समय में झुमरी तिलैया के डॉक्टर गली और राजगगाड़िया रोड में दर्जनो पौथोलॉजी सेंटर सरकारी नियमों को ताक पर रखकर चल रहे हैं। 

इन पौथोलॉजी सेंटरों में नियमित पैथोलॉजिस्ट डॉक्टर नहीं है इसके बावजूद इन पर स्वास्थ्य विभाग, पुलिस या सरकारी अधिकारियों द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जाती उपायुक्त के द्वारा क्लीनिकल इस्टैब्लिशमेंट के नाम पर कई बार बैठके की गयी और इन जैसे झोलाछाप पैथोलॉजी सेंटर पर कार्रवाई की बात कही गई, लेकिन टास्क फोर्स के उदासीन रवैया से झोलाछाप पैथोलॉजी सेंटर का धंधा फल-फूल रहा है।

मोटी कमीशनों के चक्कर में नामी गिरामी डॉक्टरों के द्वारा इन जैसे झोलाछाप पैथोलॉजी सेंटर में मरीजों को भेजा जाता है और मोटी रकम वसूल की जाती है देखने वाली बात यह है जांच के नाम पर मरीजों को मानसिक रूप से बीमार किया जा रहा है।

Share Button

Related News:

विवाहिता की सरेआम गोली मार कर हत्या
वाहन चेकिंग के दौरान घूस लेते पुलिसकर्मी का वीडियो वायरल
बिहार के डीजीपी रहे छत्तीसगढ़ के प्रथम राज्यपाल डीएन सहाय का देहांत
शर्मनाक! नालंदा आयुद्ध कारखाना की सुरक्षा में सेंध, चोरों ने बैंक से उड़ाये 5 लाख
54 हजार सेलरी पाने वाली प्रधान शिक्षिका के ज्ञान का देखिये सनसनीखेज वीडियो
बालू माफियाओं के कुकर्म से नदी में यूं डूब मरे 4 मासूम  
आरटीआई एक्टिविस्ट पर फर्जी केस, पुलिस ने दिखाई बर्रबरता
पिस्तौल की नोक पर टीवी जर्नलिस्ट के भतीजा को अगवा कर किया अधमरा
नालंदा के सिलाव में प्रियंका बनी अध्यक्ष और शाइस्ता उपाध्यक्ष
रद्द नहीं होगी मलमास मेला बंदोवस्ती, वंचित संवेदकों को मिलेगा मौकाः नगर आयुक्त
सेना बहाली के अभ्यर्थियों की सेवा में जुटी झामुमो
प्रह्लाद सिंघानिया है नकली शराब का सबसे बड़ा मास्टर माइंड
रांची होटवार जेल बना पुलिस छावनी, आक्रोश में हैं बिहार-झारखंड के राजद नेता
अपराधियों का तांडव, दो दर्जन वाहनों से लाखों की लूट, तोड़फोड़, मारपीट
बोले निगरानी डीएसपी- अपहरण केस में रंगे हाथ रिश्वत लेते धराये दारोगा
राजगीर सिवरेज सिस्टम को लेकर उठे अहम सबाल, संयुक्ता ने की तत्काल जांच-कार्रवाई की मांग
राजगीर वीरायतन के मेगा कैंप में मरीजों का उमड़ रहा सैलाव
डिफॉल्टर मिलरों को धान अधिप्राप्ति से दूर रखेंः डीएम
फर्जी शिक्षकों की अब खैर नहीं, निगरानी ने यूँ कसा शिकंजा
हिलसा SDO ने मृत हॉकर की मां को दिया 4 लाख का चेक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

loading...
Loading...