झोला छाप डॉक्टर ने ली युवक का जान, क्लिनिक सील

Share Button

 “झोला छाप चिकित्सक के द्वारा गलत सुई देने से सत्यार्थी चाइल्ड वेलफेयर फाउंडेशन के लिए काम कर रहे युवक का मौत, क्लिनिक सील, मौके से झोलाछाप चिकित्सक फरार, पौथोलॉजी सेंटरों में नियमित पैथोलॉजिस्ट डॉक्टर नहीं फिर भी चल रहे है धड़ल्ले से।”

कोडरमा (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। मामला डोमचांच थाना क्षेत्र गेंदवाडीह निवासी उमेश राणा 30 वर्ष पिता स्वर्गीय बंधन राणा को मंगलवार रात्रि 3:00 बजे अचानक पूरे शरीर में दर्द होने पर अपने घरवालों को उठाया और तबियत बिगड़ने की जानकारी दी। उसके बाद उसके भाई दिनेश राणा के द्वारा सत्यार्थी चाइल्ड वेलफेयर फाउंडेशन के महेश सिंह को बुलाया गया और दोनों अपनी मोटरसाइकिल से डोमचांच बाजार स्थित अपोलो हेल्थ केयर ले जाया गया।

जहां पर झोलाछाप चिकित्सक संजय कुमार के द्वारा इलाज किया गया। मृतक उमेश राणा को 2 इंजेक्शन लगाया गया। इंजेक्शन लगाते ही मृतक को और बेचैनी होने लगी एवं मुंह से झाग आने लगा।

लेकिन वह हर बार ठीक होने की बात कहकर बात को टालते रहे, जब मृतक उमेश राणा की स्थिति ज्यादा गंभीर हुई तो लगभग 9:30 बजे झोलाछाप चिकित्सक के पिता भगवानी प्रसाद के द्वारा सादे कागज पर कुछ दवाओं के नाम लिखकर झुमरीतिलैया स्थित कोडरमा नर्सिंग होम रेफर कर दिया गया।

 

मृतक के भाई दिनेश राणा ने बताया कि लगभग 10 बजे झुमरी तलैया स्थिति कोडरमा नर्सिंग होम पहुंचे जहां पर चिकित्सक डॉक्टर संदेश कुमार गुप्ता के द्वारा बताया गया स्थिति काफी नाजुक है। कुछ भी कहा नहीं जा सकता। इसके बाद चिकित्सक के द्वारा इलाज प्रारंभ किया गया। इलाज करने के दौरान ही 20 मिनट के अंदर ही दिनेश राणा की मृत्यु हो गई।

जब इसकी सूचना सत्यार्थी चाइल्ड वेलफेयर फाउंडेशन के कर्मियों को लगी तो लोग कोडरमा नर्सिंग होम में जमा होने लगे। इसी बीच जिला प्रशासन को भी इसकी खबर मिल चुकी थी।

मौके पर कार्यपालक दंडाधिकारी संतोष कुमार तिलैया थाना प्रभारी राजबल्लभ पासवान एवं पुलिस बल के जवान मौके पहुंचकर उमेश राणा का शव अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल कोडरमा पहुंचे, जहां पर कैमरे की निगरानी में पोस्टमार्टम किया गया।

इसी बीच कोडरमा उपायुक्त के आदेश पर डोमचाच बाज़ार स्थित अपोलो हेल्थ केयर को सील करने कार्यपालक दंडाधिकारी संतोष कुमार डॉ रंजीत कुमार डोमचांच पहुंचे। जहां से झोलाछाप चिकित्सक संजय कुमार एवं पिता भगवानी प्रसाद मौके से फरार हो चुके थे। क्लीनिक सील करने पहुंचे पदाधिकारियों ने क्लीनिक को चालू हालत में पाया एवं सील किया गया

 बड़े आराम से फल-फूल रहा झोलाछाप पैथोलॉजी सेंटर धंधा

मोटी कमाई के चक्कर में मरीजों की जिंदगी से खिलवाड़ करने वाले पौथोलॉजी सेंटरों पर कार्रवाई क्यों नहीं होती आंकड़ों के मुताबिक मौजूदा समय में झुमरी तिलैया के डॉक्टर गली और राजगगाड़िया रोड में दर्जनो पौथोलॉजी सेंटर सरकारी नियमों को ताक पर रखकर चल रहे हैं। 

इन पौथोलॉजी सेंटरों में नियमित पैथोलॉजिस्ट डॉक्टर नहीं है इसके बावजूद इन पर स्वास्थ्य विभाग, पुलिस या सरकारी अधिकारियों द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जाती उपायुक्त के द्वारा क्लीनिकल इस्टैब्लिशमेंट के नाम पर कई बार बैठके की गयी और इन जैसे झोलाछाप पैथोलॉजी सेंटर पर कार्रवाई की बात कही गई, लेकिन टास्क फोर्स के उदासीन रवैया से झोलाछाप पैथोलॉजी सेंटर का धंधा फल-फूल रहा है।

मोटी कमीशनों के चक्कर में नामी गिरामी डॉक्टरों के द्वारा इन जैसे झोलाछाप पैथोलॉजी सेंटर में मरीजों को भेजा जाता है और मोटी रकम वसूल की जाती है देखने वाली बात यह है जांच के नाम पर मरीजों को मानसिक रूप से बीमार किया जा रहा है।

Share Button

Related News:

थानाध्यक्ष के हटाये जाने से राजगीर की जनता खुश, सफेदपोश मायूस
खूंटी पुलिस ने PLFI चीफ दिनेश गोप के ‘गन फैक्ट्री’ का हुआ उद्भेदन
हिलसा PGRO से उपर लोक प्राधिकार,1 साल में 18 तिथि, सुनवाई जारी
खबर का असर, रेलवे अफसरों की टूटी निंद्रा, ट्रैक बीच पाईप लीकेज की हुई मरम्मती
बेलारी नहीं, बिहार का ‘इस्लामाबाद’! जहां पुलवामा हमला के मास्टरमाइंड की तलाश
पीएम मोदी के सामने बोले नीतिशः देश में तनाव का महौल
मुखबिर और ठग है दैनिक भास्कर का पत्रकार सुबोध मिश्रा !
बच्ची संग दुष्कर्म के बाद गिरियक-महिला थानाध्यक्ष का दिखा शर्मनाक चेहरा
बिहार शरीफ में बम धमाका, 5 मौत और 30 से उपर घायल, जिम्मेवार कौन?
महंगा पड़ा पुलिस को शराब की सूचना देना, रिपोर्टर के पिता-चाचा को पीट-पीट कर पैर तोड़ा
कुदंन पाहन की फांसी की मांग को लेकर अनशन पर बैठे AJSU MLA विकास मुंडा, कहा- सरेंडर की हो सीबीआई जांच
सरकारी योजनाओं में घोटाला ही घोटाला, जांच की मांग
एक्सपर्ट मीडिया के खुलासे के बाद मचा हड़कंप, नालंदा जिप अध्यक्षा पहुंची चंडी बीआरसी
'राजमिस्त्री' बने लालू-राबड़ी के 'कन्हैया' बटोर रहे सुर्खियां
...और साक्ष्य मिटाने की सलाह देकर लौट गई चंडी पुलिस
भूमिहीनों को सरकारी जमीन की मांग को लेकर भाकपा माले का धरना
मोहर्रम मेला के सफलता के लिय बैठक, सलीम अन्सारी बने कमिटि अध्यक्ष
सीसीएल स्वच्छता कार्विनल में मिला उल्लेखनीय प्रमाण पत्र
बिजली विभाग की अकर्मण्यता से कभी हो सकता है बड़ा हादसा
अमन मार्च कांडः 78 नामजद समेत करीव 5सौ के विरुद्ध केस, 40से उपर गये जेल
निजी क्षेत्र में आरक्षण के विरोध में बैठक, बरबीघा बाजार होगा बंद
दुष्कर्म बाद बच्ची की हालत गंभीर, पटना रेफर, लोगों में आक्रोश  
नहीं रहीं औरंगाबाद के पूर्व सांसद श्यामा सिंह
विधानसभा में विपक्ष को सीएम की सीधी गाली के बाद उबली राजनीति
बाबा मखदुम की मजार पर लगने वालेे चिराग मेला की तैयारी जोरों पर
रिटार्यड दफादार नहीं जनाब, ये है चंडी थाना के सुपर थानेदार
निगरानी के हत्थे चढ़ा नालंदा का कार्यपालक अभियंता, दफ्तर में बैठ यूं ले रहे थे 75 हजार घूस
AK-47 से छलनी 'सुशासन' की छाती पर सीएम करेंगे डायल 100 की रिलॉचिंग
कलयुगी यशोदा की हैवानियत, सहेली के बच्चे को यूं जलाया, गिरफ्तार
कपड़ा कारोबारियों के ठिकानों पर आयकर की दबिश
गवर्नर बने एसएन आर्या को मात देने वाले जदयू विधायक रवि ज्योति ने दी यूं शुभकामनाएं
पुलिस की सक्रियता से एक बड़ा बलवा यूं टला
बन गई माँ, नहीं मिली कन्या विवाह योजना की राशि
थानेदार है या गुंडा?  सुनिए ऑडियोः सत्तारुढ़ दल के नेता को क्या कहा
मुहाने नदी की उड़ाही होने से किसानों के बीच खुशी की लहर
 अतिक्रमण हटाने में भेदभाव, प्रशासन के समक्ष सामूहिक आत्मदाह करेगें दर्जनों महादलित
सरकारी कार्य में बाधा पहुँचाने वाले मुखिया, पैक्स अध्यक्ष पर एफआईआर
एसपी साहब कुछ तो समझाइये इनको, ऐसा कब तक चलेगा ?
बिहार के बच्चें नहीं, आप और आपका सिस्टम फेल हुआ है सुशासन बाबू
IT Act का ज्ञान नहीं और पत्रकार के खिलाफ धुर्वा थाना प्रभारी यूं कर रहे अनुसंधान !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...