झारखंड में सिंबल फ्रीज होने से नीतीश की जदयू को लगा बड़ा झटका

चुनाव आयोग ने झारखंड में जेडीयू के सिंबल को प्रतिबंधित कर दिया है, यानि झारखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू अब अपने सिंबल पर चुनाव नहीं लड़ पाएगी…………….”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क। झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) की शिकायत पर भारतीय चुनाव आयोग ने  जेडीयू का झारखंड में सिंबल फ्रीज कर दिया है।

जेएमएम ने भारतीय चुनाव आयोग से शिकायत की थी कि जेडीयू और जेएमएम का चुनाव चिह्न एक ही तरह का है, जिससे जनता में भ्रम पैदा होगा।

बता दें कि जेडीयू का चुनाव चिन्ह तीर का निशान है। जबकि जेएमएम का चुनाव चिन्ह धनुष है। इसको लेकर जेएमएम ने 24 जून को चुनाव आयोग में अर्जी दी थी। जेएमएम का कहना था कि जेडीयू का सिंबल उनकी पार्टी से मिलता-जुलता है, इससे मतदाता भ्रमित होगा।

जेएमएम ने चुनाव आयोग ने जेडीयू का सिंबल फ्रीज करने की मांग की थी। अब जेएमएम ने चुनाव आयोग के फैसले का स्वागत किया है।

बता दें कि भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में शामिल जनता दल यूनाइटेड (JDU) ने झारखंड में अकेले चुनाव लड़ने पर फैसला किया है।

बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष नीतीश कुमार से सलाह-मशविरे के बाद पार्टी के झारखंड प्रदेश अध्यक्ष सालखन मुर्मू ने अकेले चुनाव लड़ने की घोषणा की थी। अब पुराने सिंबल का फ्रिज होना पार्टी के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है।

 मुर्मू ने कहा था कि हम जितनी अधिकाधिक सीटों पर चुनाव लड़ने की ओर देख रहे हैं, यह इस पर निर्भर करेगा कि हमें कितने जिताने वाले उम्मीदवार मिलते हैं। यदि हमें इतने अच्छे उम्मीदवार नहीं मिले तो हमें सभी 81 सीटों पर चुनाव नहीं लड़ने का मलाल नहीं रहेगा।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.