मुजफ्फरपुर DDC के बहन-बहनोई रिटायर्ड रजिस्टार दंपति की नृशंस हत्या

यदि पुलिस सख्ती से रात्रि गश्ती करती तो अपराधी घटना को अंजाम देने से पहले सौ बार सोचते, लेकिन पुलिस की ओर से रात्रि गश्ती सही तरीके से नहीं की जा रही है। इस कारण अपराधी आराम से घटना को अंजाम देने के बाद चलते बने। लोगों ने पुलिस के खुफिया तंत्र पर भी सवाल खड़े किए….”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज। बिहार के मुजफ्फरपुर जिला नगर के ब्रह्मपुरा स्थित ज्ञानलोक स्कूल गली में मुजफ्फरपुर के डीडीसी उज्ज्वल कुमार सिंह के बहनोई रिटायर रजिस्ट्रार अजय कुमार शर्मा (64) और बहन रेणु शर्मा (60) की रॉड से पीटकर हत्या कर दी गई। उस वक्त पति-पत्नी के अलावा घर में कोई नहीं था।

बताया जाता है कि अपराधी ब्रह्मपुरा थाने से करीब 150 मीटर की दूरी पर स्थित रिटायर रजिस्ट्रार के घर का दरवाजा खुलवाकर अंदर घुसे और वारदात को अंजाम दिया। घर में लूटपाट भी की गई। आलमारी व कई दराजों को भी तोड़ डाला।

अजय कुमार शर्मा का शव बेड पर ही था, जबकि रेणु शर्मा का शव डायनिंग हॉल में पड़ा था। दोनों के सिर पर गंभीर जख्म के निशान मिले हैं। घर व परिसर का मेनगेट खुला था। कैंपस से अजय कुमार शर्मा की स्कूटी भी गायब थी।

पुलिस ने मृतक के बड़े भाई अधिवक्ता सरोज कुमार शर्मा से इस संबंध में जानकारी ली है। सरोज कुमार शर्मा का घर बगल में ही है।

अजय कुमार शर्मा बतौर सीतामढ़ी रजिस्ट्रार लगभग चार साल पूर्व रिटायर हुए थे। मुजफ्फरपुर डीडीसी उज्ज्वल कुमार नवगछिया के पकड़ा के रहने वाले हैं।

एसएसपी जयंतकांत ने बताया कि ब्रह्मपुरा में रिटायर रजिस्ट्रार व उनकी पत्नी की हत्या कर दी गई है। पुलिस टीम मौके पर छानबीन कर रही है। एफएसएल की टीम ने भी जांच की। प्रारंभिक छानबीन में डकैती की घटना प्रतीत हो रही है।

फिलहाल पुलिस साजिश के तहत हत्या, रुपये के लेनदेन, आपसी रंजिश व अन्य बिंदुओं पर भी जांच कर रही है। बयान होने पर हत्या की वजह का खुलासा हो सकेगा। इस घटना में पुलिस किसी परिचित के हाथ होने की आशंका से इनकार नहीं कर रही है।

सीतामढ़ी के निबंधन कार्यालय से रिटायर रजिस्ट्रार अजय कुमार शर्मा व उनकी पत्नी की हत्या के सात घंटे बीत जाने के बावजूद पुलिस बेखबर रही, जबकि घटनास्थल से डेढ़ सौ मीटर पर ब्रह्मपुरा थाना है।

घटनास्थल व थाने की दूरी दो से तीन मिनट में पूरी की जा सकती है। लेकिन पुलिस को वारदात स्थल पर पहुंचने में घंटो लग गए। थाने के समीप स्थित घर में घुसकर दंपती की हत्या किए जाने पर लोगों ने पुलिस के सुरक्षा इंतजामों पर सवाल उठाए हैं।

मुजफ्फरपुर के डीडीसी के बहन-बहनोई की हत्या की वैज्ञानिक जांच के लिए ब्रह्मपुरा थानेदार ने गन्नीपुर स्थित विधि विज्ञान प्रयोगशाला के कार्यालय को जानकारी दी। साथ ही अविलंब घटनास्थल पर पहुंच साक्ष्य जुटाने का आग्रह किया। हालांकि, विधि विज्ञान प्रयोगशाला की टीम को मौके पर पहुंचने में करीब डेढ़ घंटे का समय लग गया।

बता दें कि गन्नीपुर काजी मोहम्मदपुर थाना अंतर्गत आता है और ब्रह्मपुरा थाने से इसकी दूसरी करीब साढ़े चार किमी है। इस पर एफएसएल टीम के एक सदस्य ने बताया कि घटनास्थल पर पहुंचने से पहले पूरी तैयारी करनी होती है।

इस वारदात की सूचना मिलते ही डीडीसी उज्ज्वल कुमार सिंह, एसएसपी जयंतकांत, सिटी एसपी प्रमोद कुमार मंडल, एसआईटी, डीआईयू और एफएसएल की टीम ने घटनास्थल पर जाकर छानबीन की है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.