ग्रामीण विकास मंत्री के आंगन के स्कूल का शर्मनाक आलम देखिए

Share Button

“यह शर्मनाक तस्वीर सीएम नीतीश कुमार के गृह जिला नालंदा के नालंदा विधानसभा क्षेत्र के एक स्कूल की ताजा तस्वीर है। इस क्षेत्र का जनप्रतिनिधित्व लंबे अरसे से ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार करते आ रहे हैं…..” 

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क। नालंदा जिले के बेन प्रखंड के प्राथमिक विद्यालय कनकु बिगहा का शर्मनाक आलम देखिए। यहां बच्चे कड़ी धूप में स्कूल भवन के कमरे के बाहर जमीन पर बैठ कर पठन-पाठन का कार्य कर रहे है।

ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार भी बेन के ही रहने वाले हैं। लेकिन वे चिराग तले अंधेरा वाली कहावत ही अधिक चरितार्थ नजर आते हैं। सिर्फ मंत्री। ग्रामीण विकास सब कागज पर। नतीजा सिफर। सिर्फ दावे बड़े-बड़े।

यह स्कूल नालंदा लोकसभा एवं विधानसभा चुनाव का मतदान केन्द्र संख्या-206 भी है। कुछ दिन पहले इस स्कूल में मतदान केन्द्र की वेरिफिकेशन करने बेन थानाध्यक्ष पिंकी प्रसाद समेत प्रखंड विकास पदाधिकारी मो. फिरोज और अंचलाधिकारी  अंजनी कुमार सिंहा खुद गए थे।

लेकिन अफसर द्वय ने यह अमानवीयता जानने की कोशिश नहीं की कि आखिर इतने मासूम बच्चे इस तरह बाहर कड़ी धूप में धूल-धूसरित जमीन पर बैठने को क्यों विवश हैं। जबकि यह विद्यालय ग्रामीण संपर्क सड़क के ठीक किनारे है।

इस मामले की जब एक्सपर्ट मीडिया न्यूज ने पड़ताल की तो बड़े गंभीर तत्थ उभरकर सामने आए। दरअसल वहां कार्यरत शिक्षक बच्चों को बाहर धूप में इसलिए सभी वर्ग के नौनिहालों को एक साथ बैठाते हैं कि कुछ वर्ष पूर्व निर्मित विद्यालय भवन कभी भी धाराशाही हो सकता है और बच्चों के साथ एक बड़ा हादसा हो सकता है।

सबाल उठता है कि क्या मतदान केन्द्र निरीक्षण के दौरान प्रखंड विकास पदाधिकारी और अंचलाधिकारी ऐसे गंभीर पहलुओं को नजरअंदाज करते हुए आगे कैसे बढ़ गए?

क्या निकम्मे जनप्रतिनिधियों की तरह ऐसी मूलभूत जन समस्याएं, जिनमें कभी भी एक बड़ी जान-माल की हानि हो सकती है, उन पर सरकारी अफसरों की संवेदनशीलता कोई मायने नहीं रखती।

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...