गोड्डा कॉलेज कैम्पस बना ‘देसी दारू का अड्डा’

Share Button

“ताजा तस्वीरें बेहद आश्चर्यजनक है, विद्या के मन्दिर में खुलेआम शराब बिक्री का मामला कानून को भी ठेंगा दिखाते नज़र आ रही है।”

गोड्डा (नागमणी)। सिद्धो कान्हू विश्वविद्यालय अन्तर्गत चलाया जा रहा गोड्डा कॉलेज ‘देसी दारू’ का अड्डा बन चुका है। कैम्पस के ठीक अन्दर लगने वाले साप्ताहिक हाट में नशे का सामान खुलेआम बेचा जा रहा है।

कॉलेज प्रबंधन और जिला प्रशासन की बेपरवाही के कारण शिक्षा के मंदिर के हालात बिल्कुल बत्तर बन चुके हैं जबकि बताया जा रहा है कि गोड्डा कॉलेज हॉस्टल में रहने वाले बच्चों द्वारा इस विषय पर बार-बार आपत्ति की जा रही है।

असल में कहानी यह है कि लम्बे समय से कॉलेज कैम्पस के अंदर हाट लगती आई है, जहां आस-पास के गरीब किसान सब्जी, अनाज आदि बेचा करते हैं मगर उसी हाट में दूसरे तरफ ‘दारू की मंडी’ लगती है; जहां भारी संख्या में लोग देशी दारू पीते नज़र आते हैं।

सप्ताह में दो दिन गुरुवार और रविवार को यहां भारी संख्या में दारूबाजों का अड्डा लगता है, हाट से ठीक सटे गोड्डा कॉलेज का एसटी, ओबीसी और आदिवासी हॉस्टल है जहां के बच्चों को हाट के दिन बेहद परेशानी का सामना करना पड़ता है।

पूरे वाकये में सबसे चिंताजनक बात यह है कि यह सारा खेल प्रशासन के नाक के नीचे चल रहा है, कॉलेज से ठीक सटे गोड्डा परिसदन है जहां बराबर प्रदेश स्तर के प्रशासनिक पदाधिकारियों और दिग्गज राजनेताओं का आना जाना रहता है

कॉलेज से ठीक 250 मीटर की दूरी पर मुफ्फसिल थाना भी है। और तो और कॉलेज से ठीक 250 मीटर दूरी पर पूर्व शिक्षा मंत्री सह वर्तमान पोड़ैयाहाट विधायक प्रदीप यादव का आवास है। इसके बावजूद बच्चों की यहां सुनने वाला कोई नहीं।

स्थानीय लोगों ने बताया कि क्षेत्र में जबरदस्त गरीबी है। व्यवसायिक परम्परा और मजबूरी में लोग देशी शराब का व्यापार करने को मजबूर हैं।

मगर कॉलेज हॉस्टल में रहने वाले बच्चों का कहना है कि बात जो भी हो, मगर कॉलेज कैम्पस के अन्दर दारूबाजी ठीक बात नहीं। इसे अविलम्ब बन्द किया जाना चाहिए।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

88total visits,1visits today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...