गुड्डू यादव के आगे सब फेल, प्रमुख-उपप्रमुख को अंततः हटा ही डाला

चंडी प्रखंड प्रमुख -उप प्रमुख की कुर्सी को लेकर पिछले 6 माह से जारी शह-मात का खेला आज बुधवार को ई किसान भवन में सफल हो गई। इस राजनीतिक शतरंज की बिसात पर पर्दे के पीछे खड़े प्रखंड राजद अध्यक्ष प्रशांत उर्फ गुड्डू यादव ने अच्छों-अच्छों को पानी पिलाते हुये वह कर दिखाया, जो स्थानीय राजनीति में इतनी कम उम्र में अब तक कोई नहीं कर सका है।”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज।  नालंदा के चंडी प्रखंड में प्रमुख और उप प्रमुख के खिलाफ लाए गए  अविश्वास प्रस्ताव में वर्तमान प्रमुख और उप प्रमुख को मुँह की खानी पड़ी। दोनों को अपनी कुर्सी से हाथ धोना पड़ा है। अविश्वास प्रस्ताव के समर्थन में 22 पंचायत समिति सदस्यों में से 13 सदस्यों ने मत दिया, वहीं प्रमुख और उप प्रमुख को सिर्फ 9 सदस्यों का ही समर्थन मिला।

चंडी प्रखंड प्रमुख निर्मला देवी तथा उप प्रमुख पूनम कुमारी के खिलाफ 12 पंचायत समिति सदस्यों ने इसी माह 10 जूलाई को लाया था। अविश्वास प्रस्ताव लाने को लेकर विक्षुब्ध गुट ने आरोप लगाया कि प्रमुख योजनाओं में अपनी मनमानी करते हैं।

चंडी प्रखंड विकास पदाधिकारी सह कार्यपालक पदाधिकारी विशाल आनंद ने प्रमुख और उप प्रमुख को अविश्वास प्रस्ताव की जानकारी दी तो उन्होंने आवेदन लेने से ही इंकार कर दिया तथा आरोप लगाया कि अविश्वास प्रस्ताव की कॉपी सीधे प्रमुख को देनी चाहिए था। बाद में बीडीओ द्वारा इनके घरों पर नोटिस चस्पा किया गया ।

राजद युवा अध्यक्ष प्रशांत उर्फ गुडु यादव…..

प्रमुख और उप प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव को लेकर 25 जूलाई को बैठक बुलाई गई। जहाँ अविश्वास प्रस्ताव के दौरान मत विभाजन में प्रमुख और उप प्रमुख ने अपनी कुर्सी गवां दी।

चंडी प्रमुख और उप प्रमुख की चूलें हिला देने के पीछे प्रखंड के एक राजद नेता प्रशांत कुमार उर्फ गुडु का हाथ बताया जा रहा है। उनकी सक्रियता से ही प्रमुख और उप प्रमुख को कुर्सी से हाथ धोना पड़ा।

दोनों के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव की पृष्ठभूमि पिछले छह माह से तैयार की जा रही थी। योजनाओं को लेकर मनमानी से आहत कुछ विक्षुब्ध प्रमुख को कुर्सी से हटाना चाह रहे थे। लेकिन उनके पक्ष में समर्थन मिलता नहीं दिख रहा था।

कई दौर की बैठक के बाद अविश्वास प्रस्ताव की सुगबुगाहट तेज होने लगी।पहले दस सदस्य साथ आए फिर भी बहुमत से कम। इसी बीच प्रमुख खेमे से भी बहुमत उनके पक्ष में होने का दावा किया जाता रहा। अविश्वास प्रस्ताव के बाद भी विक्षुब्ध गुट के पास अपने सदस्यों को एकजुट रखना मुश्किल दिख रहा था।

ऐसे में राजद के प्रखंड युवा अध्यक्ष प्रशांत उर्फ गुडु यादव का साथ विक्षुब्ध गुट को मिला। जब सदस्य प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने जा रहे थे, तब भी प्रशांत कुमार का साथ मिला।

जब सदस्यों को एकजुट रखने की समस्या आई तो ऐसे में राजद नेता ने भी सक्रियता दिखाई। उन्होंने सिर्फ अपने सभी 12 सदस्यों को एकजुट ही नहीं रखा, बल्कि प्रमुख खेमे के एक सदस्य को भी अपने पाले में कर लिया।

अविश्वास प्रस्ताव की तिथि ज्यों-ज्यों नजदीक आ रही थी राजद नेता अपने खेमे के सदस्यों को झारखंड की सैर को लेकर चले गए। जिसकी भनक प्रमुख खेमे को भी नहीं लगीं। जबकि प्रमुख खेमा भी विक्षुब्ध गुट के एक दो सदस्य को अपने खेमे में लाने का लगभग दाँव चल चुके थे, लेकिन उन्हें हाथ मलना पड़ा।

फिलहाल राजद नेता प्रशांत उर्फ गुडु यादव की सक्रियता सदस्यों की चट्टानी एकता ने प्रमुख और उप प्रमुख को पदच्यूत करने में कामयाब रही।

अब देखना है कि प्रमुख और उप प्रमुख चुनाव तक इन सभी सदस्यों की चट्टानी एकता कायम रहती है या बिखर जाएगी। लेकिन शह-मात के इस राजनीतिक के खेल के असली ‘युवा कोच’  को कभी कोई नहीं भूल पायेगा।

Related News:

‘इन दंगों के लिए अगर कोई दोषी है तो वह हैं खुद सीएम नीतीश कुमार’
पंचायत सचिव द्वारा वार्ड सदस्या से अभद्र व्यवहार, एसपी से शिकायत
वरिष्ठ संपादक हरिनारायण जी ने यूं उकेरी उषा मार्टिन एकेडमी के छात्र की पीड़ा
एनएच-33 फोर लेन मार्ग पर आवागवन शुरु, चुटूपालू में भीषण हादसे के बाद 2 दिन से था महाजाम
राजधानी एक्सप्रेस में परोसा विषाक्त भोजन, 50 से अधिक यात्री बीमार
रहुई बाजार में चल रहा है आधार के नाम पर अवैध कमाई का धंधा
बदलते सियासी समीकरण की जद में सीएम नीतीश का 'अभेध किला'
नालंदा में महादलित युवती के साथ गैंग रेप, 4 दुष्कर्मी धराये
स्कूल नहीं लौटे 64 हजार पारा शिक्षकों की जगह 50 हजार की नियुक्ति प्रक्रिया शुरु
छठ घाट जा रहे दो लोगों को एक साथ गोलियों से भूना, मौत
बुचड़खाने के बहाने आम जनता को परेशान कर रही है सरकारः विजय हाँसदा
रहुई में यूं हो रहा बड़ा घोटाला, बिना उठाव बांट दिया मई का राशन
नपे कटिहार के एसपी सिद्धार्थ मोहन, सीबीअाई पोस्टिंग रद्द, विदाई पार्टीे की थी फायरिंग
पटना SSP की जांच से हुआ संपतचक CO की हैरतअंगेज कारस्तानी का खुलासा
रांची में रेलवे परीक्षा में नकल करते बड़ी मशक्कत से धराया नालंदा का यह जुड़वा भाई
CM की चिंघाड़ और PGRO के अजीबोगरीब फैसले में छुपे कागजी घोड़े
रामविलास बोले- करें सभी सीटों पर तैयारी, बेटा चिराग बोला- नीतीश होंगे चेहरा
सूबे के ये 41 पुलिस अफसर 10 साल तक नहीं बनेंगे थानेदार, देखें पूरी सूची
मलमास मेला व्यवस्था की निगरानी में खुद जुटे नालंदा डीएम-एसपी
पावापुरी महोत्सव को अनुपम बनाने में जुटे प्रभारी डीएम
BSF जवान ने की आत्महत्या, रहस्यों के बीच शव पहुंचते ही गांव-जेबार में मातम
नालंदा डीएम का आदेश- पूजा पंडालों के लिए लाइसेंस जरुरी, उपद्रवियों पर रखें कड़ी नजर
एसपी के जांचोपरांत वार्ड सचिव की थाने में पिटाई मामले में दारोगा सस्पेंड
प्रमंडलीय आयुक्त तक के आदेशों की यूं धज्जियां उड़ा रही नालंदा पुलिस
महागठबंधन उम्मीदवारों हुआ ऐलान, जानिए कौन कहां से लड़ेंगे चुनाव
जिला एवं सत्र न्यायाधीश की उपस्थिति में होगी प्रशासन-अधिवक्ता संघ की वार्ता
सुविधाओं की घोर कमी, दो एएनएम के भरोसे मॉडल स्वास्थ्य केंद्र
गश्ती के दौरान पुलिस वाहन पलटी, 5 पुलिसकर्मी घायल, 2 की हालत गंभीर
रांची के ओरमांझी में नक्सली उत्पात, 2 पोकलेन समेत 4 वाहन फूंके, की मारपीट
भरभरा कर गिरा मिट्टी का घर, मलबे में दबे 5 बच्चों समेत पूरा परिवार
अफवाह-पिटाई से आहत राजस्थानी महिलाओं ने यूं कान पकड़ कहा- 'अब नहीं आएंगें झारखंड'
नीतीश पर मोदी-शाह के चहेते गिरिराज के इस ट्वीट से मचा बवाल
चर्चित माधुरी देवी की हत्या गुत्थी सुलझी, 4 आरोपी धराए
100 करोड़ से नालंदा, राजगीर और बोधगया बुद्धिष्ट सर्किट का विकास
झारक्राफ्ट कंबल घोटालाः उद्योग विभाग ने जांच के लिये बनाई 7 टीम
श्री लक्ष्मी नारायण महायज्ञ की भव्य बेदी बनकर तैयार
विधायक पुत्र दीपक की मौत से सियासत गरमाई, पति-सौतन से चल रहा था विवाद
कनकनाती ठंड में हिलसा वासियों का मिजाज भी यूं बदल गया
‘अपराधियों के बाद अब पुलिस-प्रशासन के निशाने पर पत्रकार’
......और हत्या के बाद शव को लेकर पुलिस-प्रशासन के पसीने छूट गए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...