गांव-गांव जाकर बिहार में हुए विकास की करें चर्चाः रीना यादव

Share Button

हिलसा (चन्द्रकांत) । एक लंबे अर्से बाद हुए सम्मेलन में नेताओं ने जदयू कार्यकर्ताओं की पीठ थपथपाते हुए गांव-गांव जाकर बिहार में हुए विकास की चर्चा करने का आवाह्न किया।

सम्मेलन सभा को संबोधित करते हुए विधान पार्षद रीना यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को विकास पुरुष के रुप में पहचान यूं ही नहीं मिली। बिहार में उनके द्वारा किए गए कार्यों की देश और विदेश में न केवल चर्चा हुई बल्कि कई राज्यों ने उसका अनुसरण भी किया।

उन्होंने कहा कि बिहार में विकास की एक लंबी लकीर खींच कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नया बिहार बनाने के बिहारवासियों के सपनों को साकार करने की हर मुमकिन कोशिश की।

विधान पार्षद श्रीमती यादव ने कहा कि चहुमुंखी विकास की सोच रखने वाले मुख्यमंत्री श्री कुमार बिहार को शराब मुक्त करने के साथ-साथ दहेज और बालविवाह मुक्त राज्य बनाने का निर्णय लिया। इसी के तहत जहां बिहार में शराबबंदी कानून बनाकर उसे सख्ती से लागू करवाया जा रहा है। वहीं दहेज और बालविवाह मुक्त बिहार बनाने की कवायद तेज कर दी गई।

उन्होंने कहा कि शराबबंदी की तरह बिहार के लोगों को जागरुक किए जाएंगे। आनेवाले दिनों में मानव-श्रृखंला बनाया जाना इसी की एक कड़ी है।

विधान पार्षद श्रीमती यादव ने कार्यकर्ताओं की क्षमता और उनकी शक्ति का एहसास कराते हुए कहा किसी भी पार्टी के लिए कार्यकर्ता एक रीढ़ की तरह होती है। अगर रीढ़ सही तरीके से काम करे तो पूरा शरीर खुद व खुद सही काम करता है।

उन्होंने कार्यकर्ताओं से आवाह्न किया कि गांव-गांव जाकर लोगों से सम्पर्क कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा किए गए कार्यों को बताएं। साथ ही शराब, दहेज एवं बालविवाह मुक्त बिहार बनाने के संकल्प में सहयोग का अनुरोध करें।

इस मौके पर विधायक चंद्रसेन कुमार, विधान पार्षद हीरा प्रसाद बिंद, पूर्व विधान पार्षद राजू यादव, जिला पार्षद कपिल प्रसाद, मो. एहसान खां, हुमायूंरशीद अंसारी, विनोद कुमार, भरत शर्मा, संजय मुखिया, पवन मुखिया, अर्चना चौबे, कुंदन कुमार, शैलेन्द्र कुमार, गुड्डू रंगीला आदि मौजूद थे।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

407total visits,1visits today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...