गांवों में छठ पर्व घाटों व रास्तों की सफाई में जुटे युवा

Share Button

“इस रास्ते को विधायक मद से काली करण व पीसीसी ढ़लाई की स्वीकृति पूर्व में मिल चुका है ,लेकिन स्वीकृति मिलने के बाद काम न होने से रास्ते की स्थिति ज्यों का त्यों बरकरार है।”

नगरनौसा (लोकेश)। प्रखंड क्षेत्र के अनगिनत गांवो के युवाओं ने मंगलवार की सुबह से ही लोक आस्था का महापर्व छठ पूजा को ले छठ घाटों की साफ सफाई में जुट गये हैं। 

तीना गांव में डेवलपिंग युवा क्लब के युवाओं ने गांव से लेकर छठ घाट तक जाने वाली तथा गांव की मुख्य रास्ते को जेदोजेहाद कर पुनः बना डाला जो वारिश के कारण बिल्कुल बर्बाद हो चुका था

आपको बताते चलें कि नगरनौसा प्रखण्ड अंतर्गत कैला पंचायत के तीना गांव का मुख्य रास्ता जो रामघाट लोहन्दा पथ से राष्ट्रीय राजमार्ग 30 ए को जोड़ता है, जिस पर पूर्व में कभी चार पहिया वाहन आसानी से आती जाती थी, लेकिन आज उस रास्ते की बदहाली बद से बत्तर हो चुकी है। उसी रास्ते के सहारे गांव की सैंकड़ों छठ व्रती छठ घाट पर भगवान भास्कर को अर्घ अर्पण करने जाती हैं

रास्ते की बदहाली की स्थिति को लेकर तमाम जनप्रतिनिधियों को लिखित आवेदन देकर गांव के लोग बहुत पहले से ही अवगत करते चले आ रहे हैं।

स्वीकृति मिलने के बाद भी रास्ते का जीर्णोद्धार न होना कहीं न कहीं स्थानीय प्रशासन तथा जनप्रतिनिधियों के कार्य शैली पर सवालिया निशान लगता है

इसकी सूचना मिलते ही कैला पंचायत के वर्तमान मुखिया अरुण कुमार ने सहयोग राशि देकर गांव के युवाओं की मदद से बदहाल रास्ते को आबगमन के लायक बनवाया।

साथ ही  इस रास्ते के जीर्णोद्धार के लिए प्रयास करने के लिए प्रतिबद्ध हुए डेवलपिंग युवा क्लब के भीम कुमार, विवेक कुमार, गौतम कुमार, सिद्धार्थ कुमार, नीतीश कुमार, सम्मी कुमार सहित गांव के बड़े बुजुर्गों ने बताया कि मुखिया जी ने सहयोग राशि प्रदान कर डूबते को तिनके का सहारा देने का कार्य किये हैं

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...