खुले में शौच जा रही लड़की को नोंच-नोंच कर खा गये कुत्ते, ओडीएफ घोषित था गांव

Share Button

“कोडरमा जिला 23 सितंबर 2017 को ओडीएफ घोषित हुआ था। मगर कई गांवों में शौचालय निर्माण की स्थिति बदतर है। कई जगह शौचालय तो बनाए गए, लेकिन स्थिति काफी खराब है।”

कोडरमा। खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) घोषित हो चुके कोडरमा जिले के भगवतीडीह गांव में रविवार सुबह शौच के लिए जा रही 12 साल की बच्ची को कुत्तों ने नोंचकर मार डाला।

भगवतीडीह गांव मरकच्चो दक्षिणी पंचायत में है। यह वही पंचायत है, जहां से डीसी संजीव कुमार बेसरा ने प्रखंड में शौचालय बनवाने की शुरुआत की थी। डीसी खुद गड्‌ढा खोदो अभियान की शुरुआत करने पहुंचे थे।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक उमेश सिंह की बेटी मधु कुमारी रविवार सुबह आठ बजे शौच के लिए खेत जा रही थी। रास्ते में करीब एक दर्जन आवारा कुत्तों ने घेरकर हमला कर दिया। शरीर के कई हिस्सों को नोंचकर खा गए।

तभी क्रिकेट खेलने जा रहे बच्चों ने देखा। शोर मचाया तो ग्रामीण जमा हुए। कुत्तों को खदेड़ा। लेकिन तब तक मधु की मौत हो चुकी थी।

जानकारी मिलते ही एसआई जफर सिद्दिकी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। घटना की जानकारी ली। मृतका की मां चमेली देवी ने बताया कि घर में शौचालय होने के कारण बेटी खेत में जा रही थी।

मां की शिकायत पर पुलिस ने कुत्तों के हमले से मौत की शिकायत दर्ज की है। घटना के बाद से मुखिया और पंचायत सेवक का मोबाइल स्विच ऑफ है।

बीडीओ ज्ञानमणि एक्का ने बताया कि सर्वे की सूची के अनुसार शौचालय बनाया गया है। जल्दी ही फिर सर्वे कराया जाएगा। सभी घरों में शौचालय बनाया जाएगा। बच्ची के परिजनों का कहना है कि घर में शौचालय होता तो बेटी की जान नहीं जाती।

गांव में ओडीएफ की हकीकत

जिस भगवतीडीह गांव में यह घटना घटी, वहां कुल 60 घर हैं। 200 आबादी है। यहां 40 घरों में शौचालय बने हैं। बच्ची के परिजन का नाम बेस लाइन सर्वे में होने से उनके घर में शौचालय नहीं बनाया गया है।

बीडीओ ने मरकच्चो दक्षिणी पंचायत और कादोडीह पंचायत के मुखिया को वित्तीय प्रभार से मुक्त करने की अनुशंसा डीसी को भेजी है।

57

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...