खुला भ्रष्टाचार का आयना है सिकिदिरी परियोजना में 17 लाख के मौखिक कार्य

-मुकेश भारतीय-

रांची। स्वर्णरेखा जल विद्युत परियोजना सिकिदिरी अंदर से खोखला हो गया है। अफसरों औऱ ठेकेदारों की सांठगांठ का आलम यह है कि करोड़ों की बंदरबांद हो जाती है और कहीं कोई काम धरातल पर नहीं दिखता है। हाल के वर्षों में हालत काफी गंभीर हो गई है। यहां बिना प्राक्कलन या निविदा के कार्य आम बात है। चोरी-चोरी और चुपके-चुपके कहां क्या होता है, किसी को भी पता नहीं चलता। कागजों पर ही करोड़ों की हेराफेरी हो जाता है। यदि इसकी तत्काल सुध नहीं ली गई तो वह दिन दूर नहीं कि जब लोग कहेगें एक था सिकिदिरी जल विद्युत परियोजना।

बहरहाल, इस परियोजना का बेड़ा गर्क करने में मौखिक आदेश की आड़ में लूट खसोंट की बड़ी भूमिका है। एक ऐसा ही मामला अमर शहीद शेख भिखारी के वंशज मो. शेख अनवर से जुड़ा है। पूर्व परियोजना प्रबंधक वशीर अंसारी ने उन्हें पावर हाउस-2 परिसर में बोल्डर पिंचिग का कार्य करने को कहा।

संवेदक ने जनवरी-मई, 2015 के बीच 17 लाख रुपये का कार्य कर दिया। यह सब साईड इंजार्य ईई मनोज कुमार कमल और जेई संतोष कुमार की निगरानी में हुआ था। जब भुगतान की मांग की गई तो विभागीय स्तर पर टालमटोल अपनाया जाने लगा।

इसी बीच तात्कालीन प्रबंधक वशीर अंसारी जुलाई,15 में सेवानिवृत हो गए। दोनों इंचार्य, ईई और जेई का तबादला हो गया। वशीर अंसारी के कार्यकाल में परियोजना में चहुंओर मनमानी और भ्रष्टाचार का बोलबाला रहा। आज परियोजना की जो दुर्दशा दिख रही है, उसमें 80 फीसदी उन्हीं का योगदान माना जाता है।

यह मामला झारखंड बिजली बोर्ड तक पहुंच चुका है। बोर्ड की विवशता है कि जमीनी कार्य होने के बाबजूद बिना कागजी कार्रवाई के भुगतान कैसे किया जाए। अगर किया जाता है तो गलत परपंरा को बल मिलेगा और प्रबंधन व्यवस्था पर ही बड़ा सबाल खड़ा हो जाएगा।

अब सबाल उठता है कि संवेदक ने बिना निविदा के सिर्फ मौखिक आदेश पर इतनी बड़ी निविदा पर कार्य कैसे शुरु किया और पांच माह तक लगातार करते रहा। सतरह लाख रुपये की रकम कोई छोटी रकम नहीं है।

बकौल शेख अंसारी, वह बहुत गरीब आदमी है। इस कार्य को पाने लिए उन्होंने  जाहिर है कि पर्दे के पिछे ठेका माफिया खड़े हैं, जो प्रबंधन स्तर की सांठगांठ से काम करते हैं और अनियमियता के विपरित भुगतान पाने में सफल हो जाते हैं। अगर यह मामला मीडिया में न आता। राजनीतिक लोग हो-हल्ला न मचाते, राशि का भुगतान गोपनीय ढंग से कब का हो जाता। लेकिन मामला अब इतना तुल पकड़ चुका है कि इस मामले में कोई भी विभागीय अधिकारी अपनी गर्दन फंसाने को तैयार नहीं हैं। सारा मामला काफी पेंचीदा हो गया है। आजसू की स्थानीय ईकाई इसको लेकर आंदोलन कर रही है। देखना है कि आगे क्या गुल खिलता है।

contractor md. shekh ansariसपरिवार आत्मदाह कर लूंगाः 

“  मैंने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर न्याय की गुहार लगाई है। मैं विस्थापित परिवार से हूं। गेतलसूद डैम में मेरा 40 एकड़ जमीन डूबा हुआ है। तब प्रबंधक वशीर अंसारी ने गुमराह करके काम कराया। कहा गया कि कार्य पूरा होते ही प्राक्कलन बनाकर प्रशासनिक प्रदान कर दी जाएगी लेकिन बाद में वे पल्ला झाड़ने लगे। इधर 10 महीने से नीचे से उपर लोग दौड़ा रहे हैं। अब हिम्मत हार चुके हैं। शीघ्र न्या नहीं मिला तो सपरिवार आत्महत्या कर लेगें।  ”

…… कुटे गांव निवासी मो. शेख अंसारी, संवेदक, शहीद शेख अंसारी के वंशज

परंपरा का निर्वाह कियाः

“ आपात कार्य के तहत आदेश दिया गया था। उस समय के ईई और जेई प्राक्कलन बना कर सौंप चुके हैं। इसका अप्रूवल कराना  परियोजना प्रबंधक का काम है। मैंने मौखिक आदेश के तहत कार्य कराने की परंपरा का निर्वाह किया है। कहीं कुछ भी गलत नहीं किया है। ”……वशीर अंसारी, सेवानिवृत प्रबंधक, सिकिदिरी परियोजना

sikidiri prject manager amar nayakबिना स्वीकृति भुगतान असंभवः

“ मैंने कार्यस्थल पर जाकर हर पहलु का भौतिक सत्यापन किया है। चूकि यह कार्य मौखिक आदेश के तहत हुआ है इसलिए बगैर प्रशासनिक स्वीकृति के संवेदक को बिल का भुगतान करना संभव नहीं है। संवेदक और आंदोलनकारियों की मांग से बिजली बोर्ड प्रबंधन को अवगत करा दिया गया है। उपर से जैसा आदेश होगा, वैसा ही किया जाएगा। ” ……. अमर नायक, परियोजना प्रबंधक, सिकिदिरी।

Related News:

जिस पत्नी की हत्या के आरोप में पति काट रहा है जेल, वह दो साल बाद प्रेमी के साथ मिली !
नालंदाः 50 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ निगरानी के हत्थे चढ़े 2 घुसखोर
सरकारी उदासीनता के बीच कोल्हान में ठंढ से 4 की मौत
बीच रांची में सीएनटी एक्ट की धज्जियां, बन रहा है शारदा अपार्टमेंट !
बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे नालंदा में ऐसे 'जाहिल शिक्षक'
सूबे में फर्जी शिक्षकों को हटाने का आदेश जारी, नालंदा में हड़कंप
कुख्यात नक्सली के सरेंडर मामले में रघुबर सरकार की मुश्किलें बढ़ी, HC के बाद PMO ने लिया संज्ञान
अडानी कंपनी के खिलाफ रैयतों का विशाल प्रदर्शन
इस वायरल वीडियो से गया पुलिस में हड़कंप, शराबबंदी पर तमाचा
सीओ से शिकायत के बाबजूद आम गैरमजरुआ जमीन पर जारी है डोजरिंग-घेराबंदी का कार्य
राष्ट्र के विकास हेतु जरुरी है बापू की सत्य और अहिंसा की नीति
बिहारशरीफ सदर अस्पताल के कैदी वार्ड में पुलिस-कैदी का यह कैसा सुराज? देखिये वीडियो
पंचायत स्तर पर ग्राम प्रधान की उपस्थिति में कैंप लगाकर काटें ऑनलाइन रसीद : CM
सोशल वर्कर की तरह चलाएं ओडीएफ अभियान : डॉ. त्याग राजन
ताड़ी के कारण नहीं बल्कि जमीन की अग्रिम नहीं लौटाने के कारण हुई मधुसूदन चौधरी की गला रेतकर हत्या 
‘ओडीएफ वार कंट्रोल रुम’ की हालत से समझिये नगरनौसा प्रखंड का आलम
पीएम आवास योजन के विरोध में ग्रामीणों का प्रदर्शन
मरांडी ने हार्स ट्रेडिंग को लेकर जारी की ऑडियो-वीडियो, कहा- इस्तीफा दें रघुवर
प्रधानमंत्री-डीजीपी के हस्तक्षेप से एक वर्ष के बाद दर्ज हुई हत्या-जालसाजी की एफआईआर
बिहार में 477 को छोड़ सभी गांवों का हुआ विद्युतीकरण, अगले साल हर घर में जलेगी बिजली
यूं तहस-नहस कर डाला हरनौत विधायक की सड़क शिलान्यास पट्टिका
नगर आयुक्त के प्रयास से 192 करोड़ की राशि मिली, आधी नगर में पेयजल की समस्या ख़त्म
पेड़ से टकराई बाइक, एक की मौत, दो जख्मी की हालत नाजुक
अरेराज डीएसपी की छापामारी में गन्ना की खेत-नदी से 4 ट्रैक्टर अंग्रेजी शराब बरामद
राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि के चिन्हित भू-माफिया शिवनंदन के खिलाफ किसी क्षण हो सकती है FIR, जद में ...
मामला पहुंचा महिला आयोगः महज 11 साल की है ताला मरांडी की बहू !
देवघर में दिनदहाड़े गोलीबारी में एक की मौत, एक घायल
👨‍🎨थोड़ी चूड़ियां पहन लो,एक घघरा सिलवा लो💃
गदहे को यूं डीएम-एसपी बनाया तो सोनपुर मेले में मिल गया थियेटरों को अनुमति!  
महिला पार्षद की भरी सभा अपमान पर मेयर के खिलाफ मुखर हुई जनता
सांसद के खिलाफ हल्ला बोल की व्यापक तैयारी, प्रशासन एलर्ट
एसपी के आदेश-निर्देश भी बेअसर, 6 में 1 को भी नहीं पकड़ सके थानेदार
जंगल की जमीन यूं कब्जा रखा है वीरायतन, पुलिस-प्रशासन भी दे रहा साथ
नशे में सगे भाई को उसकी पत्नी और 3 बच्चों समेत मार डाला
सावधान! अब बिहारशरीफ में 'थर्ड आई' रखेगी आप पर नजर
'एक्सपर्ट मीडिया न्यूज' से बोले नालंदा एसपी- अब यूं जारी नही होगी प्रेस विज्ञप्ति
जहां दूल्हा-दुल्‍हन से लेकर पादरी तक सब जुड़वां
रिटायरमेंट के 2साल बाद भी नहीं मिला पेंशन, भूखमरी झेल रहा है नलकूप मिस्त्री परिवार
बच्चा चोरी अफवाह में 7लोगों की हत्या से उत्पन्न हिंसक उपद्रव के बाद जमशेदपुर का माहौल अब शांत
आयुष्मान योजना को अस्पताल ने दिखाया ठेंगा, रोगी की मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...