“रघुबर सरकार ने रांची की निर्भया कांड की CBI जांच की अनुशंसा तक नहीं की”

” केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सिल्ली के विधायक अमित कुमार महतो को उनकी शिकायत पत्र की बाबत साफ शब्दों में बताया कि राज्य सरकार की ओर से ऐसी कोई पहल नहीं की गई है। यदि पहल की जाती तो वे ऐसे मामलो में फौरिक कार्रवाई की दिशा में कदम उठाते।”

रांची (मुकेश भारतीय)। आज सिल्ली विधान सभा के झामुमो विधायक अमित कुमार महतो झारखंड प्रदेश की 3 चर्चित बिटिया की संदिग्ध मौतों की साबीआई जांच की मांग को लेकर भारत सरकार के केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मिले।

इस मुलाकात के बाद सबसे सनसनीखेज सूचना यह उभर कर सामने आई है कि बिटिया बचाओ की नारे बुलंद करने वाली रघुवर सरकार ने अपनी घोषणा के अनुरुप आरटीसी इंजीनियरिंग कॉलेज की चर्चित  निर्भया कांड की सीबीआई जांच की अब तक कोई पहल नहीं की है।

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सिल्ली के विधायक अमित कुमार महतो को उनकी शिकायत पत्र की बाबत साफ शब्दों में बताया कि राज्य सरकार की ओर से ऐसी कोई पहल नहीं की गई है। यदि पहल की जाती तो वे ऐसे मामलो में फौरिक कार्रवाई की दिशा में कदम उठाते।

केन्द्रीय गृह मंत्री से मुलाकात करने के बाद श्री महतो ने नई दिल्ली से दूरभाष संपर्क में बताया कि राज्य की पुलिस प्रमुख से लेकर सीएम रघुवर दास ने सार्वजनिक तौर पर कहा था कि आरटीसी इंजीनियरिंग कॉलेज की निर्भया के हत्यारों की पहचान कर ली गई है , वे सफेदपोश हैं और दो दिनों के भीतर वे सफेदपोश सलाखों के पीछे होगें। लेकिन आज तक कुछ नहीं किया गया।

श्री महतो ने कहा कि जब सीएम को सफेदपोश की पहचान ज्ञात थी तो अब तक क्यों नहीं कोई कार्रवाई हुई। अगर वे राज्य पुलिस पर हावी हैं तो सीबीआई जांच की अनुशंसा करने की घोषणा को अमलीजामा क्यों नहीं पहुंचाया गया?

सिल्ली विधायक ने कहा कि इसके पहले भी  वे केन्द्रीय गृह मंत्री से इस सिलसिले में मिले थे। उस वक्त भी यही कहा गया था। उसके बाद उन्होंने कई बार इस बाबत झारखंड के सीएम को पत्र लिखा, लेकिन उसका कितना असर हुआ, वह सब आज राजनाथ सिंह सरीखे गृह मंत्री से मिलने के बाद बखूबी हो गया।

 उन्होंने कहा कि दूसरी घटना  गढ़वा की सोनाली के साथ हुई। उसको लेकर भी राज्य सरकार की ओर से कुछ नहीं कहा गया। इसे लेकर सीएम को कई बार अनुरोध आवेदन दिया।

उन्होनें कहा कि तीसरी घटना गोल इंस्टीयूट की इच्छिता की है। जिसके बारे में सभी जानते हैं कि पीड़ित के अविभावक को कैसे खुद सीएम द्वारा डांट भगाया गया था। इसका वीडियो भी वायरल हो चुका है।

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से पहले भी मिल चूके हैं सिल्ली विधायक अमित महतो

उन्होंने कहा कि इन तीनों मामले की जानकारी केन्द्रीय गृह मंत्री को दी गई है कि कैसे राज्य सरकार बिटियाओं के प्रति असंवेदनशील रवैया अपना रही है और सभी की बिना सीबीआई जांच खुलासा होना मुमकिन नहीं है।

 

Related News:

राजगीर अनुमंडलीय अस्पतालः आज डॉ. उमेश चन्द्रा सा बाड़ ही यूं खाते दिखे खेत
25 लाख के इनामी नक्सली का DIG-SP-DDC  के समक्ष यूं सरेंडर
बोले एन चंद्रशेखरन- 'स्टील इंडस्ट्री पर कोरोना का असर नहीं'
नालंदा JJB का कड़ा एक्शनः 'ऐसे कर्तव्यहीन बिहार थानेदार हाजिर हों'
भाकपा (माले) ने भुड़कुड़ में दबंगों के खिलाफ भरी हुंकार
ऐसे अनस्कील्ड चला रहे हैं बिहार स्कील डेवलपमेंट मिशन
क्रिमीनल टाईप है रंगीला स्कूल का हेडमास्टर, सीधी कार्रवाई से डरती है बीईओ
कल राजगीर गैंगरेप पीड़िता के घर पहुंचेगी राज्य महिला आयोग, अध्यक्ष ने सीएम से लगाई गुहार, डीजीपी से ...
सीआरपीएफ के वीर जवान को युवा चेतना समिति ने किया सम्मानित
जाति की आग में झुलस रही सोने की चिड़िया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...