किसानों ने उचित मूल्य की मांग को लेकर नेशनल हाइवे को किया हाइजैक

हरनौत, नालंदा (रवि कुमार)। संघर्षशील किसान मजदूर संघ के आह्वाहन पर जिले के कई प्रखंडों के किसान अपने विभिन्न मांगों को लेकर सोमवार को साढ़े नौ बजे से प्रखंड मुख्यालय स्थित चंडी मोड़ पर  एनएच 31 एवं एन एच 30 ए को करीब छह घंटे पूरी तरह जाम कर दिय।बीच सड़क पर ही सीएम एवं पीएम का अर्थी सजाया गया। जाम के दौरान वाहनों का परिचालन पूरी तरह ठप रहा। वहीं शव वाहन एवं एम्बुलेंस को जाम से मुक्त रखा गया। प्रदर्शनकारी केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार के खिलाफ किसान विरोधी नीति को लेकर  जय  जवान जय किसान का नारा लगा रहे थे।

संघ के अध्यक्ष जयप्रकाश नारायण सिंह ने बताया कि किसान आज गरीबी की मार झेल रही है।उसका दुखड़ा सुनने वाला कोई नहीं है। किसानों के उत्पाद को आज कोई खरीदने वाला नहीं है ।अन्नाज का कीमत दस पंद्रह वर्ष पूर्व वाला हो गया है।जिससे किसान अपने बच्चों को पढ़ाई की फीस भी नहीं दे रहा है। इसके लिये केंद्र और राज्य सरकार दोनों दोषी है। किसानों के लिये प्रखंड स्तर पर एक क्रय केंद्र खोलने का भी मांग कर रहे थे। साठ वर्ष के ऊपर वाले किसानों को अन्नदाता पेंशन योजना देने का मांग किया.जाम को देखते हुए पुलिस को सुबह  से ही बाजार में कई जगहों पर तैनात कर दी गई थी। कार्यक्रम के अंत में संघ के प्रतिनिधिमंडल के द्वारा डीडीसी को ज्ञापन सौंपा गया। डीडीसी से आश्वासन  मिलने के बाद किसानों ने जाम तोड़ा।

बिहार शरीफ में छात्रों के द्वारा स्टेशन पर हुई भयावह घटना से पुलिस एहतियात बरत रही थी। पुलिस किसी भी अप्रिय घटना से निबटने के लिये एहतियात के तौर पर बड़ी संख्या में एसएसबी के जवान तैनात कर रखे थे। हालांकि किसी भी प्रकार की अशांति देखने को नहीं मिला। किसान शांतिपूर्ण आंदोलन कर रहे थे। किसी भी प्रकार का कोई अप्रिय घटना नहीं घटी।

प्रदर्शन के दौरान किसानों और अधिकारियों के बीच झड़प भी हुई। झड़प उस समय हुआ, जब एसडीओ अरुण कुमार एवं एसडीपीओ निशित प्रिया ने किसानों को जाम हटाने को लेकर समझाने गए थे। किसान मुन्ना कुमार ने मांग करते हुए अधिकारियों से कहा कि किसानों को करने वाला कोई नहीं है। नौकरी वाले हड़ताल कर अपनी मांग पूरी कर लेता है। जबकि किसान बेजुबान पशु की तरह चुप रहता है। सरकार के किसान विरोधी नीति के कारण ही आज किसान खेत के बजाय सड़क पर है। इस पर अधिकारी भड़क गए और नौकरी कर लेने की बात कही। अधिकारी ने जबरन जाम हटवाना चाहा, जिसपर किसान भड़क गए और नीतीश कुमार ,नरेंद्र मोदी मुर्दाबाद का नारा लगाने लगे।बाद में पहुंचे डीडीसी एवं किसानों के बीच भी बहस हुआ।

संघर्षशील किसान मजदूर संघ के द्वारा चक्का जाम के दौरान झारखंड के जज भी फंसे दिखे। वे लगभग जाम में आधे घंटे तक फंसे रहे। बाद में स्थानीय लोगों के द्वारा बताए जाने पर दूसरे मार्ग से वापस अपने गंतव्य तक जा सके। वे अपने परिवार के साथ  बख्तियारपुर थाने के सवनिमा गांव जा रहे थे।

1974 जेपी आंदोलन के आंदोलनकारियों  ने सोमवार को काला दिवस मनाया।वे किसान संघ के द्वारा आयोजित चक्का जाम कार्यक्रम को समर्थन करते हुए  चंडी मोड़ पर एन एच 31 एवं एनएच 30 ए को जाम करते हुए अंतिम समय तक डटे रहे।  जेपीआंदोलनकारी रंजीत सिंह ने बताया कि सरकार की दोरंगी नीति के कारण किसान आज सड़क पर है। ये दुर्भाग्य पूर्ण बात है कि भगवान कहे जाने वाले अन्नदाता ही सड़क पर उतरे हैं।

संघ के सदस्यों ने बताया कि संघर्षशील किसान मजदूर संघ के द्वारा चक्का जाम कार्यक्रम स्थगित करने को लेकर प्रखंड स्तर के अधिकारियों ने संघ के सदस्यों को पच्चीस जून के शाम साढ़े चार बजे को थाने पर बुलाया गया, जहाँ करीब चार घंटे तक कार्यक्रम  स्थगित करने को लेकर बैठक चली। जिसमें मनीष कुमार, चंद्रउदय कुमार, विरिंद सिंह, सत्येंद्र सिंह, ब्रजकिशोर सिंह शामिल हुए।

वहां से बात बनते न देख सभी लोगों को वाहन में बिठाकर जिला अधिकारी के पास ले जाया गया। वहाँ भी आधे घंटे तक बैठक हुई। अधिकारियों ने कार्यक्रम रोकने को लेकर धमकी भी दी। साथ ही रात में प्रखंड के सिरसी गांव में प्रशासन एवं संघ के सदस्यों के साथ बैठक किया। बारह बजे रात संघ के सदस्यों को छोड़ा गया। संघ के सदस्य ने बताया कि प्रशासन ने कहा कि आप लोग आंदोलन  से हट जाएं। जिसके कारण सभी बंधक बनाए गए सदस्य प्रशासन के तरफदारी में दिखे। उन्होंने बताया कि बंधक बनाने से प्रचार प्रसार की कमी होगी।

संघर्षशील किसान मजदूर संघ के आह्वाहन पर किसानों ने प्रखंड के कई जगहों पर सड़क जाम किया।जिसमें कल्याणविगहा, हरनौत मोड़ एवं तेलमर शामिल रहा। वहाँ भी वाहनों का लंबा लाइन लगा रहा।

कार्यक्रम के अंत में किसान कार्यकर्ताओं के द्वारा सीएम नीतीश कुमार एव पीएम नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका गया एवं लाठी डंडे से पिटाई की गई। ये पहली घटना है ,जहाँ सीएम अपने गृह प्रखंड मुख्यालय में ही किसानों के द्वारा उनका पुतला दहन करते हुए पिटते दिखे।

तेलमर में जाम कर रहे दर्जनों किसानों को तेलमर ओपी पुलिस के द्वारा गिरफ्तार किया गया। जिसे बाद में छोड़ दिया गया।

Related News:

'जिंदगी मिलेगी दोबारा' फाउंडेशन की 6 महीनों में 1001 सेवा सफर 
गया SSP ने थानेदार को शराब माफिया से 1.6 लाख रिश्वत लेते रंगे हाथ दबोचा
नई दिल्ली जाने वाली मगध एक्सप्रेस के टाईम में फेर-बदल की प्रबल संभावना
दिनदहाड़े यूं लूटा जा रहा है कहलगांव थर्मल पावर का कोयला
हिलसा पीजीआरओ को दी गई भावभिनी विदाई
समान वेतन का मामला कोर्ट में, हड़ताल का औचित्य नहीं :रौशन कुमार
क्या नीतीश को गांधी मैदान की संकल्प रैली में मोदी देंगे 'डीएनए' का सर्टिफिकेट!
पटना पुलिस कांस्टेबल मर्डर के शूटर के ऐसे वायरल फोटो से मची सनसनी
‘लूर-लक्षण और बाई, ई तीनो मरले पर जाई !’
बोकारो के सभी सभी स्कूलों में होगा दौड़ का आयोजन
क्या यही होगी 2019 में JMM की लोकप्रियता की तस्वीर !
छठ घाट जा रहे दो लोगों को एक साथ गोलियों से भूना, मौत
शालिनी अस्पताल में मोबाईल के सहारे ऑपरेशन कर नवजात की ले ली जान
 डायन की शक में वार्ड सदस्य और उसके भाई की गला रेतकर हत्या
नालंदा एसपी ने जरुरतमंद गरीबों के बीच यूं बांटे गर्म कपड़े
नहीं झुकी राजगीर पुलिस, राजगृह तपोवन तीर्थ रक्षार्थ पंडा कमेटी अध्यक्ष का शराबी पुत्र जायेगा जेल
नालंदा में ड्राइवर की तत्परता से यूं टला एक बड़ा रेल हादसा, देखिए वीडियो
महज 1 KM दूर हुई बड़ी वारदात, SHO 3 घंटे और DSP 5 घंटे लेट, दोनों को तत्काल हटाने पर अड़े लोग
नीतीश के पीछे पड़ा ‘मर्डर’ का भूत, मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट
फूल-परात में यूं पैर धुलवा वायरल हो रहे झारखंड के सीेेम
बच्चा की मौत पर बवाल, पुलिस-पब्लिक भिड़ंत में DSP समेत 11 जवान घायल
उत्पाती हाथियों ने सांडी में किसान को रौंद डाला
नालंदाः रिश्वत लेते निगरानी के हत्थे चढ़ा एक और घुसखोर
खुद की बारी आई तो तीसरी आंख की कवच पहन लिये हिलसा के अफसर
एक पिता ने दो पुत्री और एक पुत्र संग खाया जहर, चारो की मौत
जयंती विशेष : जब प्रथम प्रधानमंत्री 'चाचा नेहरू' दंगा रोकने पहुँचे नगरनौसा और कहा...
बम ब्‍लास्‍ट से दहला आरा, 1 घायल अपराधी धराया और 3 फरार
7 लीटर चुलाई शराब के आरोपी को 1 लाख के जुर्माना के साथ 10 साल की सज़ा
एसपी ने ग्रामीणों के दावे को नकारा, बोले- 2 की मौत, 2 क्रिटिकल
फेसबुक पोस्ट को लेकर जमकर बवाल, धारा 144 लागू
खुला भ्रष्टाचार का आयना है सिकिदिरी परियोजना में 17 लाख के मौखिक कार्य
दो फरार शराब धंधेबाज को नालंदा पुलिस ने दबोचा
DGP की गंभीरता और रांची SSP की सक्रियता से यूं बची ब्लू व्हेल गेम के शिकार युवक की जान
बिहार-ओडिशा तक सक्रिय ‘मुंगेर गैंग’ का रांची में भंडाफोड़,12 बदमाश धराए
बोले बिहार शरीफ एसडीओः प्रमाण पत्र के बजाय मदद हेतु लें प्रशिक्षण
नालंदा सूचना एवं जनसंपर्क विभागः स्कूली बच्चों को कूड़े-कचरे पर करा रहा गांधी जी का परिचय
गोड्डा सिविल सर्जन करेगीं महगामा स्वास्थ्य केंद्र के इस डॉक्टर पर त्वरित कार्रवाई
इधर बिहारशरीफ बन रहा स्मार्ट सिटी, उधर यूं गीर-मर रहे हैं लोग
प्रमंडलीय आयुक्त ने मैराथन बैठक कर नालंदा प्रशासन को दिये कई अहम निर्देश
डेंगू से हिलसा के निवर्तमान एसडीओ श्रृष्टि राज सिन्हा की मौत, पारस में ली अंतिम सांस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...