किसानों को आर्थिक रूप से समृद्ध करना प्रधानमंत्री का लक्ष्य :रघुवर दास

0
10

“आज उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का शुभारंभ हुआ हुआ है। इस योजना के तहत देश के एक करोड़ से भी ज्यादा पात्र किसानों को पहली किस्त ₹2000 की राशि किसानों के बैंक अकाउंट में सीधे डीवीटी के माध्यम से उपलब्ध कराई गई है। इस योजना के अंतर्गत झारखंड राज्य के 22 लाख 76 हजार किसानों को लाभ मिल सकेगा….”

रांची (एक्सपर्ट मीडिया न्यूज)। उक्त बातें सीएम रघुवर दास ने आज अंचल मैदान, ओरमांझी, रांची में आयोजित प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत प्रधानमंत्री किसान योजना का शुभारंभ के अवसर पर अपने संबोधन में कहीं।

सीएम ने कहा कि कृषि देश और राज्य की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। असली भारत और असली झारखंड गांव में बसा है। गांव समृद्ध होगा तभी राज्य और देश विकसित होगा। गांव को आर्थिक रूप से समृद्ध करना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना है। राज्य सरकार उनके सपने को साकार करने के लिए कदम से कदम मिला मिलाकर चल रही है।

उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत 1 एकड़ से 5 एकड़ भूमिधारी किसानों के लिए प्रतिवर्ष प्रति एकड़ ₹5000 की राशि कृषि कार्य के लिए उपलब्ध करा रही है। इस योजना के तहत राज्य के किसानों को न्यूनतम 11 हजार और अधिकतम 31 हजार का लाभ प्रतिवर्ष मिलेगा। इस योजना की राशि मई महीने में डीवीटी के माध्यम से राज्य सरकार द्वारा सीधे किसानों के बैंक अकाउंट में भेजा जाएगा।

आज प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत राज्य के पांच लाख से अधिक किसानों को योजना की पहली किस्त ₹2000 डीवीटी के माध्यम से सीधे उनके खाते पर उपलब्ध कराई गई है। किसानों को तीन किस्तों में सलाना कुल ₹6000 की आर्थिक सहायता राशि खाद एवं बीज खरीदने के लिए केंद्र सरकार उपलब्ध करा रही है।

सीएम रघुवर दास ने कहा कि हमारी सरकार डबल इंजन की सरकार है। मोदी के नेतृत्व में एक इंजन दिल्ली से संचालित है तो वहीं दूसरी इंजन राज्य की वर्तमान सरकार है। किसानों की दशा सुधारना केंद्र एवं राज्य सरकार का सर्वोच्च प्राथमिकता में से एक है। किसान सिर्फ एक परिवार का ही नहीं बल्कि पूरे समाज के अन्नदाता हैं। किसानों को आत्मनिर्भर बना कर ही देश को आर्थिक सुपर पावर बनाया जा सकेगा। किसानों को सिर्फ खेती पर ही निर्भर नहीं रहना है।

किसानों को बागवानी पशुपालन मछली पालन अंडा उत्पादन इत्यादि छोटे छोटे कार्यों से जोड़कर आर्थिक रूप से समृद्ध बनाने का प्रतिबद्ध प्रयास सरकार कर रही है। वर्ष 2022 तक किसानों के आय को दोगुना करने का जो सपना देश के प्रधानमंत्री ने देखा है उसे पूरा करने में झारखंड महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। राज्य के किसान काफी मेहनती हैं।

सीएम ने कहा कि राज्य में कृषि एवं पशुपालन उद्योग को झारखंड की आदिवासी बहनें ही संभालती हैं। कृषि एवं पशुपालन उद्योग में महिलाओं की भागीदारी का ही प्रतिफल है कि पिछले 4 वर्षों में झारखंड किसान विकास दर में लगभग 19% की ऐतिहासिक सुधार हुआ है। झारखंड किसान विकास दर वर्ष 2014 से पहले जहां – 4 था वही अब राज्य +14 पर आकर खड़ा है। आप सभी किसान भाइयों के अथक प्रयास से ही हम वर्ष 2020 तक किसान के आय को दोगुना करने का लक्ष्य प्राप्त कर लेंगे।

सीएम रघुवर दास ने कहा कि राज्य के किसानों को उन्नत किसान बनाना सरकार की सोच है। इस उद्देश्य को पूरा करने के लिए गुजरात के बाद झारखंड दूसरा ऐसा राज्य है जहां ग्लोबल एग्रीकल्चर एंड फूड समिट का आयोजन किया गया था। इस सम्मिट में यहां के हजारों किसानों को कृषि कार्य के लिए कृषि विशेषज्ञों द्वारा आधुनिक मशीनों की जानकारी उपलब्ध कराई गई थी।

राज्यभर से लगभग 124 किसानों को राज्य सरकार द्वारा उन्नत और आधुनिक कृषि तकनीकों की जानकारी के लिए इजरायल भेजा गया था। इजराइल से प्रशिक्षण प्राप्त कर लौटे किसानों द्वारा राज्य में कम पानी में भी अधिक उपज कैसे हो इस पर काम किया जा रहा है। प्रशिक्षण प्राप्त किसानों द्वारा जैविक खेती को भी बढ़ावा दिया जा रहा है।

सीएम ने कहा कि वर्तमान समय में पूरी दुनिया में जैविक खेती की अधिक मांग है। राज्य के किसान भी जैविक खेती पर ज्यादा जोर दें। उन्होंने कहा कि राज्य के किसान बाजार की चिंता नहीं करें बाजार सरकार उपलब्ध कराएगी। अभी खूंटी जिला का कटहल सिंगापुर भेजा जा रहा है। आप जितना भी उत्पादन करेंगे उसका मार्केटिंग राज्य सरकार करेगी।

सीएम ने कहा कि कम लागत पर अधिक उत्पादन कैसे हो इस पर बल दें। अपने खेतों में सूछ्म टपक सिंचाई की तकनीक को अपनाएं। किसान कोपरेटिव फार्मिंग कर कृषि करें। सभी जिलों में कोपरेटिव सोसायटी बनाकर किसान खेती कार्य करें तो कम लागत में अधिक उत्पादन हो सकेगा।

सीएम ने कहा कि पिछले दिनों चाइना दौरा में गए थे वहां पर उन्होंने देखा कि एक लाख से अधिक कॉपरेटिव सोसायटी द्वारा कृषि कार्य किया जा रहा है। कॉपरेटिव सोसायटी बनाकर उन्नत तकनीक का उपयोग करें ताकि दूसरे किसान भी जागरूक हो सकें।

सीएम ने कहा कि राज्य के किसानों को कॉपरेटिव कृषि करने पर उपकरण की खरीद पर राज्य सरकार देगी 70% सब्सिडी देगी। सीएम ने कहा कि किसान भाई बंधु एक कदम आगे बढ़ेंगे तो सरकार उनके साथ चार कदम आगे बढ़ेगी। उन्होंने किसानों से कहा कि राज्य सरकार सदैव आपके साथ है। 

केंद्र एवं राज्य सरकार की यही प्राथमिकता है कि किसान वर्ग के लोगों के चेहरे में सदैव मुस्कान रहे, सभी योजनाएं गांव गरीब किसान नौजवान और महिलाओं के सर्वांगीण विकास को देखते हुए ही बनाई जा रही हैं। सभी जिले में किसान डिस्ट्रिक्ट फेडरेशन कॉपरेटिव सोसायटी, मिल्क फेडरेशन सोसायटी, अंडा फेडरेशन सोसायटी इत्यादि बनाएं।

सीएम रघुवर दास ने कहा कि किसान वोट बैंक नहीं है। आजादी के 67 साल बाद भी किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार नहीं हो पाया था। देश में जिस दिन से नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार का गठन हुआ है उसी दिन से प्रधानमंत्री ने किसानों के स्थिति पर चिंता जाहिर की है और उनके सर्वांगीण विकास के लिए कई महत्वाकांक्षी योजनाओं की शुरूआत हुई है। देश में कई बार किसानों के कर्ज माफी की भी घोषणा हुई और कर्ज माफ भी हुए परंतु स्थिति में किसी तरह का सुधार नहीं हो पाया था। परंतु अब स्थिति बदली है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों की सुध ली है और वर्ष 2022 तक उन्हें आर्थिक रूप से समृद्ध करना सरकार का लक्ष्य है।

इस अवसर पर राज्य के कृषि मंत्री रणधीर सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राज्य के सीएम रघुवर दास के नेतृत्व में राज्य तीव्र विकास की ओर अग्रसर है। इसी विकास की कड़ी में आज हम सब लोग प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का गवाह बन रहे हैं। किस योजना का लाभ झारखंड राज्य के पांच लाख से अधिक किसानों को मिल रहा है। योजना के तहत प्रतिवर्ष केंद्र सरकार द्वारा ₹6000 की आर्थिक सहायता राशि कृषि कार्य हेतु किसानों को उपलब्ध कराई जा रही है।

इस राशि का पहला कि आज पात्र किसानों के बैंक अकाउंट में डाला गया है। राज्य के किसानों को सरकार द्वारा सीएम कृषि आशीर्वाद योजना का भी लाभ मिल रहा है। अब किसानों को कृषि के लिए खाद और बीज लेने में कोई परेशानी नहीं होगी। हमारी सरकार प्रतिबद्धता के साथ किसानों के समग्र विकास के लिए कार्य कर रही है।

इस अवसर पर सांसद रामटहल चौधरी ने अपने संबोधन में कहा कि सीएम श्री रघुवर दास के अथक प्रयास और अच्छी नीति का ही देन है कि राज्य सभी सेक्टर में विकास के नए आयामों को छू रहा है। राज्य सरकार केंद्र एवं राज्य की सभी जनकल्याणकारी योजनाओं को शत प्रतिशत धरातल पर उतारने का कार्य कर रही है। आम जनता ने जिस कार्य के विषय में कभी सोचा नहीं था वैसे कार्य सरकार ने कर दिखाया है। सरकार द्वारा जो शिलान्यास हो रहा है उसका उद्घाटन भी हो रहा है। सड़क बिजली पानी के क्षेत्र में काफी सराहनीय कार्य हुए हैं। गांव गांव तक गुणवत्तापूर्ण सड़कों का जाल बिछाया गया है।

इस अवसर पर कृषि सचिव पूजा सिंघल ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लिए आज की तिथि तक राज्य के 5,20,399 किसानों के डेटा को केंद्र ने स्वीकार कर लिया है और इनके खाते में प्रथम किश्त की राशि जा रही है।

उन्होंने राज्य सरकार द्वारा संचालित सीएम कृषि आशीर्वाद योजना की विस्तृत जानकारी भी उपस्थित किसानों के बीच दी।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री किसे सम्मान निधि योजना अर्थात पीएम किसान योजना के तहत पहली किस्त की राशि प्राप्त करने वाले कुछ किसानों को सांकेतिक रूप से प्रमाण पत्र सीएम रघुवर दास के हाथों से दिया गया। रांची की शकुंतला देवी, लोहरदगा के अब्बास अंसारी सिमडेगा के अंबिका साहू रामगढ़ की भानु देवी खोटी की बुधनी देवी गुमला की बैगन बीवी सिमडेगा से देवकरण साहू रामगढ़ से राम पद महत्व खूंटी से सलोनी उड़ाई गुमला की बाल्मीकि देवी हजारीबाग की संगीता कुमारी आदि किसानों को सीएम के द्वारा प्रमाण पत्र दिया गया। सभी किसानों ने सीधे खाते में राशि आने पर मोबाइल में एसएमएस के माध्यम से प्राप्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संदेश को पढ़कर सुनाया।

इस अवसर पर राज्य के कृषि मंत्री रणधीर सिंह, सांसद रांची रामटहल चौधरी, विधायक डॉ जीतू चरण राम, विधायक राम कुमार पाहन, मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी, पीएम किसान योजना के नोडल अधिकारी मंजुनाथ भजंत्री, ए मुथुकुमार, रमेश घोलप, उपायुक्त रांची राय महिमापत रे, वरीय पुलिस अधीक्षक अनीश गुप्ता तथा गरिमा सिंह सहित अन्य बड़ी संख्या में विभिन्न जिलों के किसान व अन्य लोग उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.