कहीं फिर खंडहर बन धाराशाही न हो जाए करोड़ों के आवास

Share Button

-मुकेश भारतीय-

रांची जिले के ओरमांझी प्रखंड मुख्यालय भवन परिसर में कर्मचारियों एवं अधिकारियों की सुख-सुविधा के लिए करोड़ों के आवास बना दिए गये हैं लेकिन वे रांची शहर की जीवनशैली छोड़ने को कतई तैयार नजर नहीं आते। लोगों को आवास आवंटन करने वाले प्रखंड विकास पदाधिकारी का आवास पूर्णतः तैयार हो जाने बाबजूद वे आवास में नहीं रहते तो भला उनके कनीय लोग किसी आदेश का क्या खाक अनुपालन करेगें।

ओरमांझी प्रखंड-अंचल मुख्यालय के कार्यशील होने के समय भी सभी कर्मियों के लिए आवास का निर्माण कराया गया था। सीओ-बीडीओ के लिए तो आलीशान महल तैयार था लेकिन उन आवासों में कभी कोई नहीं रहा और सब जीर्ण-शीर्ण होकर धाराशाही होकर रह गए।

उन्हीं आवासों को तोड़ कर पुनः नये आवास बनाये गये हैं। जिसमें सारी सुविधाएं बहाल करा दी गई है। फिर भी अधिकारियों और कर्मचारियों का नहीं रह पाना एक मात्र सबाल खड़ा करता है कि वे लोग राजधानी का रंग छोड़ने को तैयार नहीं हैं और आम जनता के हित में मुख्यालय में रहना पसंद नहीं करते।

अंचल और प्रखंड मुख्यालय का निरीक्षण करने पर साफ पता चलता है कि शायद ही कोई कर्मचारी- अधिकारी समय पर अपने काम पर पहुंचते हों। बात करने पर सिर्फ यही सुनने को मिलता है कि रांची से आने में लेटलतीफ तो होगें हीं।

बहरहाल, करोड़ो की लागत से बने महल के प्रति यही व्यवहार जारी रहा तो वह दिन दूर नहीं कि ये भी जल्द ही जीर्ण-शीर्ण हो जाएगें और फिर निकम्मे कर्मियों को बहाना मिल जाएगा कि आवास अब रहने लायक नहीं रहे।

Share Button

Related News:

मीडिया बनी CBI डायरेक्टरः राबड़ी, इस्तीफा नहीं देंगे तेजस्वी: लालू
सरकारी खजाने से ऐसे पौधारोपण को मिले 'बड़ा अवार्ड'
उस महिला का गर्भपात की पुष्टि, कोडरमा घाटी में जिस अज्ञात महिला का मिला था शव
डीएसपी ने थाने में सामने बैठ लिखवाई थी रिपोर्टर से यूं शिकायत, फिर ऐसा क्यों
डीजीपी साहब, देखिए कैसे पगला गई है आपकी राजगीर पुलिस!
केन्द्रीय मंत्री के बेटे ने बाबजूद वारंट BJP MLA संग सड़क पर भांजी तलवारें
गोड्डा में दिखेगी जादूगर शंकर सम्राट का जलवा
कांग्रेस में पद के बदले चुकानी पड़ती है पैसा, ऐसे हुआ खुलासा
शहादत दिवस पर CPM कार्यकर्ताओं में दिखा दु:ख और आक्रोश
डेंगू से हिलसा के निवर्तमान एसडीओ श्रृष्टि राज सिन्हा की मौत, पारस में ली अंतिम सांस
रामविलास के चिराग के खिलाफ दलित महाबली उतारने की तैयारी
राजबल्लभ का राज खत्म, गई विधायिकी
हटाये गये राजगीर थानाध्यक्ष, इंसपेक्टर विजेन्द्र कुमार ने संभाली कमान
नई दिल्ली जाने वाली मगध एक्सप्रेस के टाईम में फेर-बदल की प्रबल संभावना
पूर्व में भी हुई थी पुलिस की रामजनम यादव गिरोह से मुठभेड़
सरगना समेत तीन साइबर अपराधी चढ़े पुलिस के हत्थे
नीतीश जी,  कब तक यूं ही बीमार रहेगी आपकी स्वास्थ्य व्यवस्था ?
खून के धब्बों से दहशत फैलाने के पीछे कौन!
सरकारी शब्द ‘अंश’ का दंश झेलने को विवश हैं इस गांव के रैयत
DGP ने बनाए 4 एक्शन प्लान, अब ADG भी करेंगे थानों में रेड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

loading...
Loading...