साइड इफेक्टः नेता प्रतिपक्ष भी नहीं चुन पा रही भाजपा!

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज  नेटवर्क। झारखंड विधानसभा चुनाव में पहले बीजेपी खासकर पूर्व सीएम रघुवर दास ‘अब की बार 65 पार’ का नारा लगा रहे थे………

लेकिन पार्टी चुनाव में महज 25 सीटों पर सिमट कर रह गई और उसे प्रदेश की सत्ता से बेदखल होना पड़ा। लेकिन चुनाव में मिली इस हार का असर अब प्रदेश में दिखने लगा है।

जी हां, झारखंड में नई सरकार के गठन के बाद विधासभा का विशेष सत्र बुलाया गया। 6 जनवरी को शुरू हुआ विधानसभा का ये सत्र 8 जनवरी को खत्म भी हो गया। लेकिन बीजेपी जो अब विपक्ष में बैठी है। वो विधानमंडल का नेता तक नहीं चुन पाई है।

प्रदेश की सियासत पर पैनी नजर रखने वाले नेता प्रतिपक्ष के चयन में हो रही देरी को बीजेपी की हार के साइड इफेक्ट से जोड़कर देख रहे है।

बीजेपी प्रदेश में दूसरी बड़ी पार्टी है। लेकिन सदन में विवश नजर आई। ऐसा इसलिए, क्योंकि कोई भी चेहरा अब तक नहीं सामने दिख रहा है। जो सदन में पार्टी का नेतृत्व कर सके। ऐसे में पार्टी पूरी तरह से आलाकमान के आदेश के इंतजार में है।

दऱअसल, झारखंड विधानसभा चुनाव में बीजेपी के कई दिग्गज नेताओं की हार हुई है।जिसमें सबसे पहला नाम रघुवर दास का है। जो प्रदेश के सीएम थे। वो अपनी पारंपरिक सीट तक नहीं बचा पाए हैं।

वहीं पूर्व प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुआ, पूर्व स्पीकर दिनेश उरांव भी चुनाव हार गए है। ऐसे में बीजेपी के लिए सदन में परेशानी बढ़ने वाली है।

जानकार कहते हैं कि चुनाव में कई दिग्गज नेताओं के बार जाने से पार्टी के सामने अजीब स्थिति हो गई है। प्रदेश में पार्टी को संभालने के लिए कोई बड़ा चेहरा नहीं दिख रहा है।

हालांकि, इसमें अर्जुन मुंडा का नाम हो सकता है। चर्चा है कि अर्जुन मुंडा की सक्रियता पार्टी में बढ़ गई है। मुंडा के अलावा रांची से विधायक सीपी सिंह का नाम भी इस रेस में बताया जा रहा है।

इसके अलावे  पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी की पार्टी  जेवीएम के बीजेपी में विलय के बाद उन्हें कोई बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है।

इस बारे में पूछे जाने पर बीजेपी नेताओं का कहना है कि अभी खरमास चल रहा है। ऐसे में ये काम खरमास खत्म होने के बाद किया जाएगा।

कहा ये भी जा रहा है कि इसका फैसला शायद राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव के बाद ही होगा। ऐसे में देखने वाली बात होगी कि बीजेपी कब तक नेता प्रतिपक्ष का चुनाव करती है।

Related News:

किक मारते ही यूं लुढ़के मंत्री श्रवण कुमार,  देखिये पूरा वायरल वीडियो 
गजब! नालंदा में ज्ञान के ऐसे 'सूअरखाने' को स्कूल कहते हैं!
RJD का JDU के PK पर बड़ा हमला- ‘मिट्टी में मिला दी बिहार की इज्जत’
यूं सड़क पर दिखा जमुई डीएम दपंति विवाद, लोग हतप्रद  
पटना में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की रोड शो में उमड़ा जनसैलाब
अतिक्रमणकारियों ने किया हमला, पुलिस ने भांजी लाठियां, एक हिरासत में
रांची के ओरमांझी में नक्सली उत्पात, 2 पोकलेन समेत 4 वाहन फूंके, की मारपीट
सोमवार की दोपहर से ठप है एनएच-33 फोरलेन, प्रशासनिक लापरवाही बना नमुना
CAA समर्थकों की जुलूस पर पथराव के बाद लोहरदगा में कर्फ्यू
..और 'आजाद सिपाही' ने यूं दी हौले से दस्तक
सुनिए जनता की चित्कार, कब तक मरेंगे बच्चे, मेरे सरकार?
दार्जिलिंग बन्द 32वें दिन जारी, स्थिति तनावपूर्ण
नालंदा डीएम योगेन्द्र सिंह का बिहार सदर अस्पताल का औचक नीरिक्षण, सबको नापा
भैंस चराने घर से निकली बच्ची का पईन में मिला शव, पानी में डूबने से हुई मौत
यूं लांच हुआ बिहार सुधारात्मक प्रशासनिक संस्थान (BICA) की बेवसाईट
टेल्को थाना की अजीबोगरीब पुलिसिंग, भाजपा नेता ने उठाये सवाल
योगीपुर पहुंचे सांसद पप्पू यादव, खिलाड़ियों को दिया सुरक्षा का भरोसा
बेचारी महिला पुलिस सब इंस्पेक्टर, हाथ में फूटी कौड़ी नहीं और माथा पे 8 लाख का कर्ज !
ताड़ी के नशे में चूर युवक ने चाकू मार 3 को किया घायल, एक धराया
भारी वर्षा के बीच व्रजपात से 17 लोगों की मौत, 5 गंभीर, दर्जनों मवेशी भी मरे
लज्जा नहीं आती.... 😢
शराबबंदी कानून के पालन के तरीके पर हाई कोर्ट हैरान, थानेदार पर कार्रवाई
मोदी ने गिरियक में भी निकाली लालू पर अपनी भड़ास
निगमानंद आश्रम के 62 वर्षीय बाबा ने 10 साल की बच्ची संग किया दुष्कर्म, लोगों ने पीट पुलिस को सौंपा
अनियंत्रित स्कार्पियो ने बच्चे को रौंदा, गंभीर हालत में पटना रेफर
सिर्फ भुजाली लिए थे नक्सली, 5 पुलिस जवानों को उनकी ही बंदूकें छीनकर मारी गोली
हिलसा में महिलाओं के हाथों बिजली विभाग के जेई की यूं हुई जमकर धुनाई!
2 किसानों को सांप ने काटा, एक की मौत, दूसरे की हालत गंभीर
नए थानेदार को बड़ी सौगात, क्राइम ब्रांच के रिटायर्ड अफसर के घर भीषण चोरी
'प्रशासन और सरकार का चेहरा है लोक शिकायत निवारण अधिकार कानून'
जेल में जदयू नेता की मौत पर बवाल, बजी पगली घंटी, सड़क जाम
अमित शाह पर सरयू राय कड़ा हमला- ‘पहले जानिए,फिर बोलिए’
महंगा पड़ा भ्रष्टाचार का विरोध, नालंदा युवा जदयू महासचिव को मिली मौत
सहारा परिवार ने यूं दी शहीदों को श्रद्धांजलि
पंचायत सचिव ने 1000 रुपये शुल्क जमा करने पर भी आवेदक को नहीं दी सूचना
नहीं रहे रांची के पूर्व SSP-DIG प्रवीण कुमार सिंह, दिल्ली के मैक्स में ली अंतिम सांस
पति बना जल्लाद, बेटा-बेटी समेत पत्नी को टंगारी से काट मार डाला
गौरी लंकेश मर्डर केस का शाजिशकर्ता धनबाद कोर्ट में पेश
भूषण ने एसपी को लिखा- ‘चालक हत्याकांड मेरे खिलाफ एक गहरी शाजिस, हो निष्पक्ष जांच’
कौन है पटना में सर्वोच्च रसुख वाला यह पिस्तौल बाबा?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...