कम उम्र में न करें बिटिया की शादी, स्कूल जरूर भेजें उसेः रघुबर दास

Share Button

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज (अविनाश)। सीएम रघुबर दास ने कहा है कि बेटी की शादी कम उम्र में नहीं करें। बेटियों को पढ़ा-लिखा कर काबिल बनाएं। आज के समय में बेटियां किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं हैं। राज्य की कई बेटियों ने विभिन्न क्षेत्रों में अपनी अलग पहचान बनायी है। बेटियों को स्कूल जरूर भेजें। राज्य तभी विकसित होगा जब महिलाएं सशक्त एवं समृद्ध होंगी। महिलाएं स्वयं सहायता समूह बनाकर मुर्गी पालन ,बकरी पालन ,सेनेटरी नैपकिन इत्यादि निर्माण कार्य से जुड़कर अपनी आमदनी बढ़ा सकती हैं। 

सीएम ने उक्त बातें आज जमशेदपुर स्थित बिरसानगर क्षेत्र के परिभ्रमण के दौरान कही।

सीएम ने कहा कि राज्य सरकार प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभ से वंचित परिवारों को जल्द से जल्द आवास योजना के लाभ से जोड़ा जाएगा।

मौके पर उपस्थित पदाधिकारियों को सीएम ने निर्देश दिया कि तेज गति से सर्वेक्षण करा कर प्रधानमंत्री आवास योजना से वंचित परिवार को आवास आवंटन करें। शौचालय निर्माण संबंधि कार्यों में तेजी लाने का निदेश भी दिया। स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत शौचालय निर्माण हेतु बकाया राशि को सर्वेक्षण के उपरांत शीघ्र निर्गत करें।

उन्होंने कहा कि स्वच्छ एवं स्वस्थ झारखण्ड का निर्माण सरकार का लक्ष्य है। प्रधानमंत्री का स्वच्छ भारत का सपना तभी साकार होगा जब हम स्वच्छ झारखण्ड बनाएंगे। उन्होंने बिरसानगर क्षेत्र के आम जनता से मिलकर अपिल किया कि राज्य को स्वच्छ बनाने में आप सभी अपनी महत्वपूर्ण भागीदारी निभाएं। अपने गली-मुहल्लों को मिलजुलकर साफ करें। स्वच्छता से ही स्वच्छ मन का वास होता है।

श्री दास ने कहा कि सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ जरूर उठायें। राज्य में सम्पन्नता लाना सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने उपस्थित लोगों से मिलकर कहा कि विज्ञान एवं आधुनिकता की इस युग में सोच को बदलने की आवश्यकता है। दुनियां बहुत तेज गति से आगे बढ़ रही है। आवश्यकता है कि सभी लोगों को जागरूक होकर कदम से कदम मिलाकर आगे बढने की। सरकार की योजनाओं में अपनी भागीदारी रखें। तभी विकास संभव है।

सीएम रघुवर दास ने आज जमशेदपुर के भालूबासा स्थित शीतला मंदिर में भगवान शिव की पूजा अर्चना की और राज्य की उन्नति की कामना की। 

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...