उत्पाद विभाग की मेहरबानी से यूं बुलंद हैं शराब माफिया के हौसले

0
11

“उपर वाले कुछ करते ही नहीं। आप लोग को क्या दिक्कत होता है। हम लोग समय पर जो तय है, वह पंहुचा देते हैं। हमें पूरे जिले में यह भी छूट है कि हम अपने मोटरसायकिल से शराब कहीं भी ले जायें। कोई रोकने वाला नहीं…..”

कोडरमा (काशिफ अख्तर)। अवैध महुआ शराब माफियाओं के इन दिनों कोडरमा जिले में हौसले बुलंद हैं। जिले के तिलैया थाना अंतर्गत गझंडी रोड स्थित ग्राम हथुआधारन, श्मसान घाट में अवैध महुआ शराब भट्टी का संचालन धड़ल्ले से किया जा रहा है। उक्त स्थान पर कई महुआ शराब की कई भट्ठी शराब माफियाओं के द्वारा संचालित की जा रही है।

बताते चलें कि महुआ शराब माफिया एवं कार्य स्थल की जानकारी देने के बाद उत्पाद विभाग ने छापेमारी की लेकिन हजारों लीटर शराब एवं हजारों किलो जावा महुआ को छोड़ शराब माफिया के साथ सांठगांठ का खेल प्रकाश में आया है।

यही कारण है कि उत्पाद विभाग के नाक के नीचे बड़े आराम से शराब माफियाओं के काले कारनामे बदस्तूर जारी है एवं अवैध महुआ शराब संचालन का कार्य जिले भर में जोरों-शोरों से चल रहा हैं।

वन भूमि बना शराब माफियाओं के लिए स्वर्गः वहीं वन विभाग की भूमि को अवैध महुआ शराब माफियाओं के लिए स्वर्ग बना हुआ है शराब माफिया जंगलों के बीचो-बीच अपने काले कारनामों को अंजाम देते है और वन विभाग को इसकी कानो कान खबर तक नहीं होती है।

वहीं अगर उत्पाद विभाग की बात करें तो सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इनके सांठगांठ हर छोटे-बड़े महुआ शराब माफियाओं के साथ है। यही वजह है कि अवैध शराब कारोबारी उत्पाद विभाग एवं वन विभाग के संरक्षण में काफी अच्छी तरह से फल फूल रहे है।

और तो और इन शराब माफियाओं की हिम्मत की दाद देनी होगी यह शराब माफिया दिनदहाड़े ही महुआ शराब की खेप एक जगह से दूसरे जगह बड़ी आसानी से पहुंचाते हुए कहीं भी नजर आ जाएंगे।

शराब माफिया ने कहा ऊपर तक हैं सेटिंगः अवैध शराब माफिया खुले आम बोलते है कि उपर वाले कुछ करते ही नहीं। आप लोग को क्या दिक्कत होता है। हम लोग समय पर जो तय है, वह पंहुचा देते है। हमें पूरे जिले में यह भी छूट है कि हम अपने मोटरसायकिल से शराब कही भी ले जाये। कोई रोकने वाला नही।

बताते चलें कि उक्त बातें कोडरमा थाना अंतर्गत जरगा पंचायत क्षेत्र ग्राम हथुआधारन निवासी इंदर महतो पिता नान्हु महतो अवैध महुआ शराब माफिया ने कही।

इस मौके पर उनकी पत्नी भी उनकी सहयोगी के रूप में मौजूद थी। और मौके पर ड्रम में भरकर हजारों लीटर महुआ शराब एवं जावा महुआ मौजूद हैं।

इस तरह शराब जिले के बॉर्डर वाले इलाके से बिहार की ओर सप्लाई करने का काम पुलिस प्रशासन एवं उत्पाद विभाग के नाक के निचे धड़ल्ले से चल रहा है।

बोले उत्पाद अधीक्षकः उत्पाद अधीक्षक अजय कुमार गौड़ ने कहा कि उक्त स्थल से 10 लीटर महुआ शराब बरामद हुआ। वही शराब माफिया का नाम सामने नहीं आया।

जब उनसे कहा गया कि मौके पर हजारों लीटर महुआ शराब एवं हजारों किलो जावा महुआ मौजूद था। तब उन्होंने कहा उत्पाद विभाग की टीम को जो भी बरामद हुआ, वह उत्पाद विभाग की टीम ने जप्त कर लिया है।

जब भी ऐसी बाते सामने आती है तो करवाई की बात कही जाती है। मगर दो दिन बाद फिर वही ढाक के तीन पात वाली कहानी सामने आती है और अवैध कारोबार जोरो पर चलते दिखता है।

अब देखना यह है कि क्या सचमुच में शराब माफियाओं के अधिकारियों से साँठ गांठ है या सचमुच करवाई होती है या अपराधी खुलेआम अवैध महुआ शराब के काले कारनामे उत्पाद विभाग की रहमों करम से चलाते रहते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.