आपूर्ति विभाग-डीलरों की साठगांठ से यूं लुट रही है गरीबों का निवाला!

Share Button

गरीबों को मिलने वाला अनाज यदि भ्रष्ट सिस्टम की भेंट चढ़ जाए तो यक़ीनन इसे सुशासन नहीं कह सकते…………….”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क। मामला नालंदा जिले के राजगीर नगर पंचायत के वार्ड 11 की है, जहाँ गरीबो को सरकार द्वारा दो साल से दिया जा रहा गेहूँ, चावल का एक दाना भी इनलोगो को नसीब नही हुआ।

राजगीर बस स्टैंड चौराहे पर फल बेचने वाली मीना देवी, गाड़ी ड्राइवर विनोद राय की पत्नी कौशिल्या देवी, गाड़ी ड्राइवर राजकुमार दास की पत्नी लीला देवी, रेखा देवी जैसी कई गरीब महिलाएं है और होंगी जिनका नाम तो राशन कार्ड की सूची में है और डीलर द्वारा कागज़ पर इन्हें अनाज भी दिया जा रहा है, लेकिन 2 वर्षों से न इन्हें उजला राशन कार्ड मिला है और ना ही इन्हें अनाज का एक दाना।

केंद्र सरकार की महत्वपूर्ण योजना के तहत सरकार को अब लगता है कि हर गरीब के घर मे हमने अनाज पहुंचा दी लेकिन वास्तविकता यह है कि सरकारी तंत्र ने सारी व्यवस्था में लूट-खसोंट के लिए जगह बना रखी है।

सभी गरीबो को सरकारी अनाज मुहैया करा दिए जाने वाली बिहार सरकार के दावे पर पोल खोलती यह खबर राजगीर अनुमंडल प्रशासन के लिए एक चुनौती है, क्योंकि जब सरकारी स्तर पर जब सभी राशनकार्ड धारियों का आधार लिंक्ड दो साल से हो रहा है तो फिर किस मेलजोल से इन गरीबो का अनाज कौन हज़म कर रहा है ।

एसईसीसी 2011 के आधार पर उजला राशन कार्ड बांटे गए, लेकिन जब बहुत सारे लोगो का नाम छूट गया। तब जिला प्रशासन के निर्देश पर प्रखण्ड कार्यालय में राशन के लिए आवेदन जमा हुए। उन्ही आवेदनों के बाद नए लोगों का नाम राशन कार्ड में जोड़ा गया।

नाम तो जुड़ा लेकिन राशन कार्ड आम जनता को उपलब्ध नहीं कराने से साफ स्पष्ट है कि आपूर्ति विभाग के सांठ गाँठ से यह कुकृत्य किया जा रहा है। जिसके लिए प्रखण्ड आपूर्ति कार्यालय से लेकर जनवितरण डीलर जवाबदेह है, क्योंकि आधार लिंक्ड कराने की जिम्मेवारी भी इन्ही सबों की थी।

जाहिर है कि गरीबों के निवाले हड़पने से ऐसे सैकड़ों-हज़ारों राशन कार्ड होंगे, जिसका अनाज का अनुचित उठाव हो रहा है। वैसे कार्ड को चिन्हित कर इसे योग्य लाभुकों को पहुँचा कर भी सुशासन की स्थापना हो सकती है।

Share Button

Related News:

नालंदा के इन बालू माफियाओं के खिलाफ क्यों नहीं हो रही कार्रवाई ?
पीडीएस चावल की गुणवत्ता पर कोई समझौता नहींः एसडीओ
एक्जाम प्रेसर में बीआईटी स्टूडेंट ने लगाई फांसी
मां के अवैध संबंध की सजा 3 बेटियों को, दुष्कर्म के बाद गला रेत नृशंस हत्या
वरिष्ठ संपादक हरिनारायण जी ने यूं उकेरी उषा मार्टिन एकेडमी के छात्र की पीड़ा
नालंदा JJB का कड़ा एक्शनः 'ऐसे कर्तव्यहीन बिहार थानेदार हाजिर हों'
गिरीडिह में आंधी तुफान, वेघर हो गये कई लोग, शासन से मदद की आस
सर्वाधिक चर्चा के केन्द्र बने दुर्गा पंडाल में लगीं लालू-राबड़ी की यह प्रतिमा
नालंदा में 'मोहल्ला सरकार' के लिए गोलीबारी-मारपीट के बीच वोटिंग जारी
लोक शिकायत निवारण अधिनियम की खुद धज्जियां उड़ा रहे हैं नालंदा के डीएम
प्रमुख-उप प्रमुख चुनाव में किंग मेकर बनना चाहते हैं शिक्षक माफिया
पुलिसिया डंडे का शिकार हुआ निर्दोष युवक कहा- सर कारण तो बताईये सर
बीआईटी सिन्दरी के वरीय व्याख्याताओं ने किया यूं फर्जीवाड़ा
असरदार नहीं दिख रहा पीएम मोदी का कैश लेस योजना
मनचलों की करतूत से लोगों में उभरा आक्रोश
बिहार-तंत्र यूं डकार रहा स्वच्छ भारत का शौचालय, नालंदा अव्वल
हाड़ कंपा देने वाली ठंड में 'गरीबों के मसीहा' बनें धनंजय
नहीं बख्शे जायेंगे महौल बिगाड़ने वाले उपद्रवीः एसडीओ
ले...लोट्टा, ये क्या? खुद देख लें बिहार में ‘स्वच्छाग्रह’ की तस्वीर
ABC ने घूसखोर अभियंता और कृषि अधिकारी को पकड़ा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...
Loading...