‘अबुआ राज’ में लालू जी के ‘दिन’ भी यूं बहुरे!

चारा घोटाले के चार मामलों के सजायाफ्ता  लालू प्रसाद रिम्‍स में अपनी गंभीर बीमारियों का इलाज करा रहे हैं। इससे पहले लालू ने हेमंत सोरेन को जीत की बधाई देते हुए ट्विटर पर अपने संदेश में शुभकामना और आशीष देते हुए लिखा था- मनोकामना पूर्ण हुई। अहंकार और पाखंड की सरकार का अवसान हुआ………”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज डेस्क। झारखंड में जेलबंद लालू प्रसाद का राज भी साफ दिख रहा है। शनिवार को मुलाकातियों से मिलने के तय दिन से अलग गुरुवार को ही एक साथ 12-15 लोग राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से रांची के रिम्‍स में मुलाकात की।

चारा घोटाला के चार मामलों के सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव बिरसा मुंडा जेल के कैदी हैं, जिन्‍हें करीब 11 गंभीर बीमारियों के चलते रांची के रिम्‍स में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है।

नियम-कायदे को ताक पर रख कर गुरुवार को लालू से मिलने वालों का तांता लगा रहा। पेईंग वार्ड में सियासी सरगर्मी का आलम यह रहा कि बिहार के पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह समेत दर्जनों नेता लालू से बिना रोक-टोक के जा मिले।

नियमों की मानें तो विशेष परिस्थिति में ही लालू से उनके पारिवारिक सदस्‍य या कोई विशिष्‍ट व्‍यक्ति ही मिल सकता है।

बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा होटवार के जेल अधीक्षक अशोक चौधरी की मानें तो हेमंत सोरेन, नरेंद्र सिंह और राजेंद्र सिंह को लालू से मिलने की विशेष अनुमति दी गई। 12-15 लोगों के मिलने की उन्हें जानकारी नहीं है। अगर ऐसा हुआ है तो इसकी जांच कराई जाएगी। जांच के बाद रिपोर्ट मिलने पर कड़ी कार्रवाई करेंगे।

इधर, झारखंड विधानसभा चुनाव जीतने के बाद महागठबंधन के नेता और नामित मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से रांची के रिम्‍स में मुलाकात की।

मुलाकात के बाद हेमंत सोरेन ने कहा कि राज्य में सरकार गठन की प्रक्रिया चल रही है। राजद सुप्रीमो रिम्स में इलाजरत हैं। इसी वजह से उनसे मुलाकात कर उनका आशीर्वाद लेने आया था।

सरकार को पूरी तरह से स्थापित करने के लिए उनके दिशा-निर्देश की जरूरत है। उसके बाद बाकी अन्य चीजों पर आगे बात होगी।

उन्होंने कहा कि हम किसी द्वेष भाव से राजनीतिक काम नहीं करते हैं। किसी राज्य को दिशा देने के लिए जितनी भूमिका सत्तापक्ष की होगी, उतनी ही भूमिका विपक्ष की होगी। लड़ाई-झगड़ा करके राज्य को दिशा नहीं दी जा सकती है।

हेमंत ने कहा कि मेरा यह मानना है कि सारा काम बिल्कुल पॉजिटिव सोच के साथ संभव है। इसी सोच के साथ इस राज्य को दिशा देना चाहते हैं। इसलिए हमने रघुवर दास के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई थी। अब उस एफआइआर को वापस लेने का भी निर्णय लिया है।

लालू से मुलाकात के बाद हेमंत सोरेन ने रिम्‍स परिसर में बने ट्रामा सेंटर का जायजा लिया। वहां भर्ती मरीजों का हालचाल जाना। इस दौरान रिम्स के कर्मचारियों ने फूलों का गुलदस्ता देकर हेमंत सोरेन का स्वागत किया।

इस शपथ ग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री से भी समय मांगा था। वे भी इसमें शामिल होना चाहते थे। लेकिन व्‍यस्‍तता के कारण शायद वे शामिल नहीं हो पाएंगे। हम इस राज्य को सभी लोगों के सहयोग के साथ आगे ले जाना चाहते हैं।

हेमंत ने इसके लिए सभी राजनीतिक दलों, पक्ष-विपक्ष से साथ देने की अपील की है। हेमंत सोरेन सीधा नई दिल्‍ली से राजद प्रमुख लालू प्रसाद से मिलने पहुंचे हैं।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.